दिग्विजय जीतेंगे, प्रज्ञा हारेगी, मोदी उल्लू बनाते हैं, ये अब पीएम नहीं बनेंगे का रट लगानेवाले कम्प्यूटर बाबा की निकली हवा

मध्यप्रदेश में हैं एक कम्प्यूटर बाबा, इनके आगे सभी राजनेता सर झूकाते हैं, कभी मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इन्हें राज्य मंत्री का दर्जा दे दिया था, बाद में ये भाजपा से उछलकर कांग्रेस में चले आये। जहां कांग्रेस ने इन्हें अपना स्टार प्रचारक भी बनाया था, हाल ही में ये भोपाल से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रहे मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की जीत के लिए विशेष अनुष्ठान करना प्रारम्भ किया था

मध्यप्रदेश में हैं एक कम्प्यूटर बाबा, इनके आगे सभी राजनेता सर झूकाते हैं, कभी मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इन्हें राज्य मंत्री का दर्जा दे दिया था, बाद में ये भाजपा से उछलकर कांग्रेस में चले आये। जहां कांग्रेस ने इन्हें अपना स्टार प्रचारक भी बनाया था, हाल ही में ये भोपाल से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रहे मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की जीत के लिए विशेष अनुष्ठान करना प्रारम्भ किया था।


और इसके माध्यम से दावा किया था कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस लोकसभा की कम से कम पन्द्रह सीटें जीतेंगी, जिसमें भोपाल की भी सीट शामिल है, इसी दरम्यान कम्प्यूटर बाबा ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ अनाप-शनाप बकने में भी कोई कोताही नहीं बरती थी।

एक चैनल को दिये गये इंटरव्यू में कम्प्यूटर बाबा ने एक सलोगन दिया था “राम-राम अबकी बार, बदल के रख दो चौकीदार”। कम्प्यूटर बाबा ने इस इंटरव्यू में साफ कहा था कि इस बार केन्द्र में मोदी की सरकार नहीं बनेगी, ये शत प्रतिशत उनका दावा है। अब नरेन्द्र मोदी कभी प्रधानमंत्री नहीं बन सकते, क्योंकि भारत में अब तक ऐसा झूठा प्रधानमंत्री कभी नहीं देखा गया।

उन्होंने ताल ठोक कर रहा कि मोदी कभी भी पीएम नहीं बन सकते, क्योंकि उन्होंने सभी को उल्लू बनाया। जब पत्रकार ने पूछा कि आप यह कैसे कह सकते है कि पीएम मोदी नहीं बन सकते, तब उनका कहना था कि भजन में बहुत ही ताकत है, हमें विश्वास है कि पीएम मोदी नहीं बन पायेंगे, कांग्रेस ही आयेगी।

कम्प्यूटर बाबा ने यह भी कहा था कि उनका संत समाज गंगा-नर्मदा को साफ करनेवाली, सनातन धर्म की रक्षा करनेवाली और ईमानदार लोगों को हमेशा समर्थन करेगी। जब पत्रकार ने पूछा कि आपका नाम कम्प्यूटर बाबा क्यों हैं, तब उनका कहना था कि चूंकि उनका काम कम्प्यूटर की तरह होता है, इसलिए लोगों ने कम्प्यूटर बाबा का नामकरण कर दिया और इसके बारे में वे ज्यादा क्या कहें।

कभी यही कम्प्यूटर बाबा ने भोपाल से भाजपा के टिकट पर विजयी साध्वी प्रज्ञा की तुलना रावण से भी कर दी थी। कम्प्यूटर बाबा ने साध्वी प्रज्ञा के बारे में कटाक्ष करते हुए कहा था कि साधु के कपड़े पहनने या वेष बनाने से कोई साधु नहीं हो जाता, कर्म करने से साधु होता है, चुनाव लड़ने से नहीं। कभी कम्प्यूटर बाबा ने पूर्व मुख्यमंत्री एवं भाजपा नेता शिवराज सिंह चौहान को ठग भी कह डाला था, पर ये क्या कम्प्यूटर बाबा की सारी तपस्या, सारा भजन धरा का धरा रह गया और उनके कृपापात्र दिग्विजय सिंह की हवा निकल गई।

वे बुरी तरह हारे, जिन पीएम मोदी के बारे में क्या नहीं कहा, आज वे पीएम मोदी, फिर से भारत का बागडोर संभाल रहे हैं, यानी कम्प्यूटर बाबा की सारी सधुवई निकल गई। इसीलिए कहा जाता है कि जिनका जो काज, उन्हीं को वो साजे। जो भगवान की सेवा को ही अपना लक्ष्य बनाया है, वे भगवान की सेवा में ही खुद को लगा दें, तो अच्छा रहेगा, नहीं तो राजनीति और भगवान की सेवा दोनों को एक साथ लेकर चलेंगे और अपने मन-मुताबिक किसी को भी गालियां देना शुरु करेंगे तो फिर उनका कबाड़ा कैसे निकलेगा, कम्प्यूटर बाबा का उदाहरण सबके सामने है।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

यह कैसी पत्रकारिता, जहां हारनेवालों, अलग विचारधारा रखनेवालों के लिए दिल में कोई इज्जत ही नहीं

Fri May 24 , 2019
अब मुझे किसी से पूछने की यह जरुरत नहीं, कि जब हमारे देश के सच्चे सपूत क्रांतिकारी अंग्रेजों के जूल्मों के खिलाफ लड़ते होंगे, और अंग्रेज जब उन्हें निशाना बनाते होंगे, तो अपने ही देश के कुछ लोग यह जरुर कहते होंगे कि इन मूर्खों को क्या जरुरत थी, अंग्रेजों के खिलाफ लड़ने की, भला अंग्रेजों से कोई जीत सकता हैं, जिनका सूर्य कभी अस्त नहीं होता।

You May Like

Breaking News