धनबाद के मेयर चंद्रशेखर अग्रवाल की चमचई को मुख्यमंत्री रघुवर दास ने ठुकराया

धनबाद के मेयर चंद्रशेखर अग्रवाल द्वारा की जा रही चमचई को आखिरकार मुख्यमंत्री रघुवर दास ने ठुकरा दिया। ज्ञातव्य है कि धनबाद के मेयर चंद्रशेखर अग्रवाल ने धनबाद की कांको मठ से गोल बिल्डिंग जानेवाली सड़क को मुख्यमंत्री रघुवर दास के नाम से घोषित करा दिया था, जिसकी आलोचना यत्र-तत्र-सर्वत्र होने लगी। जब बात मुख्यमंत्री रघुवर दास तक पहुंची तब उन्होंने एक्शन लिया और टिवटर के माध्यम से अपनी भावनाएं व्यक्त कर दी।

धनबाद के मेयर चंद्रशेखर अग्रवाल द्वारा की जा रही चमचई को आखिरकार मुख्यमंत्री रघुवर दास ने ठुकरा दिया। ज्ञातव्य है कि धनबाद के मेयर चंद्रशेखर अग्रवाल ने धनबाद की कांको मठ से गोल बिल्डिंग जानेवाली सड़क को मुख्यमंत्री रघुवर दास के नाम से घोषित करा दिया था, जिसकी आलोचना यत्र-तत्र-सर्वत्र होने लगी। जब बात मुख्यमंत्री रघुवर दास तक पहुंची तब उन्होंने एक्शन लिया और टिवटर के माध्यम से अपनी भावनाएं व्यक्त कर दी।

उन्होंने टिवटर के माध्यम से कहा कि उन्हें “धनबाद नगर निगम द्वारा एक सड़क का नामकरण मेरे नाम पर करने की सूचना प्राप्त हुई है। मैं नगर निगम से सविनय अनुरोध करता हूं कि इस प्रस्ताव को तत्काल निरस्त किया जाए। हमारी विचारधारा के अनुसार महापुरुषों के नाम पर ही सड़क का नामकरण किया जाना चाहिए।“

सूत्र बताते है कि धनबाद के मेयर चंद्रशेखर अग्रवाल मुख्यमंत्री रघुवर दास के खासमखास है। उनकी पहुंच सीधे मुख्यमंत्री आवास तक है। उनकी इच्छा फिलहाल भाजपा के टिकट पर धनबाद संसदीय सीट से चुनाव लड़ने की है, इसलिए इधर रघुवर भक्ति में खुब डूबते नजर आ रहे है, उन्हें लग रहा था कि ऐसा करने पर मुख्यमंत्री रघुवर दास और ज्यादा प्रसन्न हो जायेंगे और उनकी रघुवर भक्ति को देकर मनोवांछित वर प्रदान कर देंगे, पर मुख्यमंत्री रघुवर दास कितने प्रसन्न हुए, वो तो बाद की बात है, पर मेयर द्वारा धनबाद की एक सड़क को मुख्यमंत्री रघुवर दास के नाम पर किये जाने की घोषणा ने मुख्यमंत्री रघुवर दास की किरकिरी जरुर कर दी, साथ ही मेयर चंद्रशेखर अग्रवाल की अद्भुत चमचई को भी जनता के सामने लाकर प्रकट कर दिया, जिसकी सर्वत्र कटु आलोचना हो रही है।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

मदर्स डे की आड़ में रिश्तों के बाजार में आ टिका वात्सल्य प्रेम, मैया अब मॉम बनी और बच्चा किड्स

Sun May 13 , 2018
ये आज की बेटी है, जो मां को डफर कह रही है, क्या कोई बता सकता है कि डफर का मतलब क्या होता है? पर वो कल की मां थी, जो अपने मां से सीखी थी, वो बेटी को कुछ देना चाहती थी, सब कुछ प्यार के माध्यम से देना चाहती थी, पर बेटी लेने को तैयार नहीं, क्योंकि वो मां में उसे मूर्खता नजर आ रहा था, सचमुच हम बहुत तेजी से आगे बढ़ रहे हैं, मां को खो रहे हैं,

Breaking News