पकौड़ा दुकान के लिए लोन प्राप्ति हेतु पीएनबी के ब्रांच मैनेजर को मिले 500 आवेदन

बोकारो सेक्टर चार स्थित पंजाब नेशनल बैंक में पकौड़ा बेचने का दुकान खोलने के लिए एक लाख रुपये का लोन प्राप्त करने हेतु करीब 500 फार्म जमा हुए। कांग्रेस के प्रदेश महासचिव देव शर्मा के नेतृत्व में ये आवेदन पंजाब नेशनल बैंक के प्रबंधक को सौंप दिया गया। इसके पूर्व प्रधानमंत्री मोदी रोजगार  गारंटी योजना के तहत बेरोजगार पकौड़ा प्रशिक्षण शिविर भी लगाया गया। जहां बेरोजगार युवकों को पकौड़ा बनाने का प्रशिक्षण भी दिया गया।

बोकारो सेक्टर चार स्थित पंजाब नेशनल बैंक में पकौड़ा बेचने का दुकान खोलने के लिए एक लाख रुपये का लोन प्राप्त करने हेतु करीब 500 फार्म जमा हुए। कांग्रेस के प्रदेश महासचिव देव शर्मा के नेतृत्व में ये आवेदन पंजाब नेशनल बैंक के प्रबंधक को सौंप दिया गया। इसके पूर्व प्रधानमंत्री मोदी रोजगार  गारंटी योजना के तहत बेरोजगार पकौड़ा प्रशिक्षण शिविर भी लगाया गया। जहां बेरोजगार युवकों को पकौड़ा बनाने का प्रशिक्षण भी दिया गया।

पंजाब नेशनल बैंक से पकौड़ा दुकान खोलने के लिए लोन मांगने गये बेरोजगार युवकों में कांग्रेस पार्टी के नेता मयूर शेखर झा भी मौजूद थे। उनका कहना था कि जब ललित मोदी, विजय माल्या, नीरव मोदी और पराग के मालिक को बिना किसी आधार के लोन दिया जा सकता हैं, और वे ये लोन लेकर गायब हो सकते हैं, भारत छोड़ सकते हैं, तो यहां के जो सचमुच बेरोजगार हैं, उन्हें लोन क्यों नहीं मिल सकता? इसलिए प्रधानमंत्री मोदी के सपनों का भारत यानी पकौड़ा बेचनेवाले युवाओं का भारत बनाने के लिए, लोन लेने का पहला हक तो यहां के बेरोजगार युवकों का ही बनता है।

उन्होंने यह भी कहा मोदी सरकार के चार साल बीतने को आये, आखिर क्या दिया, मोदी सरकार ने यहां की जनता को, बेकारी, बेरोजगारी, झूठे सपने और अब जब चुनाव के दिन निकट आ रहे, तो उन्होंने बेरोजगारों को कह दिया कि वे पकौड़ा बेचे, आखिर क्या बनाना चाहते हैं, हमारे प्रधानमंत्री भारत के भविष्य को। इसलिए अब चूंकि यहां के बेरोजगार युवकों ने 500 आवेदन, वह भी पकौड़ा का दुकान खोलने के लिए पंजाब नेशनल बैंक को दे दिया है, आशा की जानी चाहिए कि इन बेरोजगार युवकों को यह मोदी सरकार और राज्य सरकार जल्द एक लाख रुपये लोन उपलब्ध करायेगी, ताकि ये बेरोजगार युवा मोदी के पकौड़े विक्रेताओं का भारत बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सके।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

आखिर झूके रेलमंत्री पीयूष गोयल, आक्रोशित युवाओं की सारी मांगे मानी

Thu Feb 22 , 2018
रेलमंत्री पीयूष गोयल ने ट्विवट कर बताया है कि रेलवे में ग्रुप डी की निकली बहाली में आइटीआइ की डिमांड खत्म कर दी गई हैं, साथ ही ग्रुप डी के लिए निकली आवेदन के लिए मांगे जा रहे पांच सौ रुपये की डिमांड को घटाकर एक सौ रुपये कर दिया गया हैं। ऐसा नहीं कि ये मांगे रेल मंत्री पीयूष गोयल ने प्रसन्न होकर मान ली हैं, चूंकि पूरे देश में युवाओं का आक्रोश वर्तमान केन्द्र सरकार के खिलाफ बढ़ता जा रहा था,

You May Like

Breaking News