दीपक प्रकाश ने हेमन्त सरकार पर शराब कारोबार की आड़ में अवैध उगाही में संलिप्त होने का लगाया आरोप

झारखंड भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सह राज्यसभा सांसद दीपक प्रकाश ने राज्य सरकार पर अप्रत्यक्ष रूप से शराब कारोबार की आड़ में अवैध उगाही में संलिप्त होने का आरोप लगाया है। श्री प्रकाश ने कहा पूरे प्रदेश में शराब की सरकारी दुकान में तय कीमत से अधिक राशि की खुलेआम वसूली की जा रही है। जो जानकारी मिल रही है उसके अनुसार प्रति माह लगभग 70 करोड़ रूपए की वसूली की बात सामने आ रही है।

कोई अनाड़ी भी समझ सकता है कि इतना बड़ा घोटाला और उगाही बगैर सरकारी संरक्षण के संभव नहीं है। क्या बगैर ऊपरी कनेक्शन और बिना वरदहस्त के निचले स्तर के कर्मचारियों द्वारा इस प्रकार की हिम्मत की जा सकती है? साफ है कि अवैध उगाही का  सारा खेल सरकार के संरक्षण में किया जा रहा है। श्री प्रकाश ने कहा कि जो चीजें सामने आई हैं उसमें कहा जा रहा है कि पूरा पैसा ऊपर पहुंचता है।

जो संकेत मिल रहे हैं उसके अनुसार इसके तार सीधे सरकार से जुड़ते नजर आ रहे हैं। सोशल मीडिया पर कुछेक वीडियो भी दिख रहे हैं जिसमें इसके तार संबंधित मंत्री से जुड़े होने की बात कही जा रही है। सरकार सार्वजनिक करे कि इस घोटाले और उगाही के तार किससे जुड़े हैं? सबसे आश्चर्य की बात है कि किसी दुकान में रेटचार्ट तक नहीं टंगा है और ना ही डिजिटल भुगतान की कोई व्यवस्था है।

इससे साफ है कि सब कुछ एक प्लानिंग के तहत किया जा रहा है। भाजपा ने पूर्व में ही कहा था कि शराब कारोबार के मामले में झारखंड सरकार की नीयत साफ नहीं है। राज्य सरकार केवल लूट खसोट की नीति बना रही है। सरकार बताए कि इस अवैध उगाही का हिस्सा कहां तक पहुंचता है?

Leave a Reply

Your email address will not be published.