भाजपा का आरोप: भ्रष्टाचार की जननी कांग्रेस ने अपने 50 वर्षों से अधिक के शासन में भारत की पहचान मिटाने की कोशिश की, पांच जून को रांची में भाजपा की आदिवासी रैली, करेगी शक्ति प्रदर्शन

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवम सांसद दीपक प्रकाश ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी अपने साथी झामुमो से कुर्सी के लिये त्याग बलिदान की बात कर रही है लेकिन सच्चाई यह भी है कि झारखंड को लूटने और लुटवाने में दोनों पार्टियां शामिल हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी जब भी सरकार पर दबाव बनाती है तो केवल कुर्सी और पद के लिये। इसके पूर्व भी कांग्रेस ने बोर्ड निगम, 20 सूत्री कमेटी में स्थान पाने के लिये मुख्यमंत्री पर दबाव बनाने की कोशिश की थी।

दीपक प्रकाश ने कहा कि अच्छा तो होता कि कांग्रेस पार्टी झारखंड में भ्रष्टाचार पर रोक लगाने के लिये त्याग बलिदान की बात करती, महिलाओं की सुरक्षा के लिये चिंता व्यक्त करती, किसानों की ऋण माफी के लिये मुख्यमंत्री पर दबाव बनाती, युवाओं को प्रतिवर्ष पांच लाख रोजगार दिलाने के लिये सरकार पर दबाव बनाती, दलित आदिवासियों पर हो रहे अत्याचार को रोकने के लिये सरकार से अनुरोध करती, पिछड़ों को पंचायत में आरक्षण दिलाने के लिये दबाव बनाती तो जनता उनकी सराहना करती लेकिन कांग्रेस पार्टी का कभी भी जनमुद्दों के समाधान से नाता नही रहा।

उन्होंने कहा कि ऐसे भी कांग्रेस और झामुमो का पुराना रिश्ता त्याग और बलिदान का नही बल्कि मोलभाव का ही रहा है। श्री प्रकाश ने कहा कि देश मे यूपीए शासन में आकाश, पाताल और जमीन को बेच देने वाली कांग्रेस पार्टी को बोलने का नैतिक अधिकार नहीं है। भ्रष्टाचार की जननी कांग्रेस ने अपने 50 वर्षों से अधिक के शासन में भारत की पहचान मिटाने की कोशिश की।

यह वही कांग्रेस है जिसने देश मे सर्वाधिक दंगे करवाये, शासन प्रशासन  का साम्प्रदायीकरण किया, संवैधानिक संस्थानों की मर्यादाएं समाप्त की, वंशवाद और परिवारवाद से लोकतंत्र को कमजोर किया। देश की संप्रभुता को खतरे में डाले। उन्होंने कहा कि आज नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में देश निरंतर प्रगति पथ पर अग्रसर है। भारत आज विश्व की महाशक्तियों का पिछलग्गू नही बल्कि अगुआ है। भारत का आम जनमानस आज विकास की मुख्यधारा से जुड़ा है।

श्री प्रकाश ने कहा कि कांग्रेस पार्टी अपनी डूबती नैया को बचाये, देश की चिंता प्रधानमंत्री कर रहे क्योंकि जनता ने उनपर भरोसा किया है। दूसरी ओर भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा की बैठक आज प्रदेश कार्यालय में संपन्न हुई। बैठक में आगामी पांच जून को राँची में होने वाली भव्य आदिवासी महारैली को लेकर योजना बनाई गई। बैठक में मोर्चा के प्रदेश पदाधिकारी, राँची महानगर एवं राँची ग्रामीण के पदाधिकारीगण उपस्थित हुए।

कार्यकर्ताओ को संबोधित करते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवं राज्यसभा सांसद दीपक प्रकाश ने कहा कि पांच जून को राँची में विशाल आदिवासी महारैली होना सुनिश्चित हुआ है। उन्होंने कहा कि हम सभी झारखंड भाजपा के कार्यकर्ता सौभाग्यशाली है कि इस महारैली में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा मुख्य रूप से शामिल होंगे।

उन्होंने कहा कि जनजाति मोर्चा के कार्यकर्ता आज से कार्यक्रम की सफलता हेतु अपने अपने गांव-पंचायत में बैठक कर अरवा चावल देकर सभी को आमंत्रित करें। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री अटल विहारी वाजपेयी के नेतृत्व में भाजपा ने झारखंड को अलग राज्य दिया। केंद्र में आदिवासी समाज के लिए अलग से जनजाति मंत्रालय एवं जनजाति आयोग का गठन कर आदिवासी समाज को अधिकार देने का काम किया।

आज अटल जी के द्वारा आदिवासियों के लिए किए गए कार्यो को आगे बढ़ाते हुए देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आदिवासी समाज के हित के लिए कई ऐसे ऐतिहासिक कार्य किये है। धरती आबा बिरसा मुंडा की जयंती को जनजातीय गौरव दिवस के रूप में घोषित कर झारखंड के आदिवासी महापुरुषों को सम्मान देने का कार्य किया। साथ ही बिरसा मुंडा कारावास जहां वे अंतिम सांस लिए थे उसे संग्रहालय बनाकर उनके वीर गाथा को आने वाली पीढ़ी के लिए संरक्षित किया है।

हेमन्त सरकार ने आदिवासियों के साथ किया छल : बाबूलाल मरांडी

बैठक को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री एवं भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने कहा कि झारखण्ड मुक्ति मोर्चा ने जल, जंगल और जमीन एवं सीएनटी-एसपीटी के नाम पर आदिवासियों को बरगलाकर सत्ता हासिल किया। लेकिन आज हेमन्त सरकार में सत्ता में बैठे हुए लोग एवं झारखंड मुक्ति मोर्चा के नेता दोनों हाथों से झारखंड को लूटने का काम कर रहे है।

उन्होंने कहा कि हेमंत राज में माफिया दोनों हाथों से पहाड़ो को खोखला कर खनिजों को लूटने में लगे है। मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन आदिवासी के नाम पर राजनीति करके सत्ता प्राप्त किया लेकिन आज एक भी आदिवासी उनके इर्द-गिर्द नहीं है। उन्होंने कहा कि आदिवासी के नाम सिर्फ हेमन्त सोरेन ने सिर्फ अपने परिवार, सगे संबंधी को फायदा पहुँचाया है।

उन्होंने कहा कि हेमन्त सरकार में एक भी आदिवासी युवा को न माइंस मिला है ना कोई ठेकेदारी। ये दोनों ही काम राज्य में बिचौलियों कर रहे है। हेमन्त सरकार में सबसे ज्यादा आदिवासी बच्चियों एवं महिलाओं का दुष्कर्म हुआ है ,जो राज्य को शर्मसार किया है। उन्होने कार्यकर्ता से आदिवासी महारैली को सफल बनाने के लिए गाँव-गाँव जाकर बैठक करने की अपील किया।

संगठन महामंत्री धर्मपाल सिंह ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि जनजाति मोर्चा के कार्यकर्ताओं के लिये समाज मे जाकर भाजपा की नीतियों कार्यक्रमो की चर्चा करना और फिर राष्ट्रीय अध्यक्ष जी के कार्यक्रम में सभी आमंत्रित करने का सुनहरा अवसर है। उन्होंने कहा कि मोर्चा के कार्यकर्ताओं को कार्यक्रम की ऐतिहासिक सफलता के लिये संकल्पबद्ध होकर सिद्धि का प्रयास करना चाहिये। उन्होंने कहा कि पूर्व में भी अनेक ऐतिहासिक कार्यक्रमो को सफल बनाने में मोर्चा के समर्पित और परिश्रमी कार्यकर्ताओं ने अपनी बड़ी भूमिका निभाई है।

 रैली में झारखण्ड के आदिवासी समाज की संस्कृति की देखने को मिलेगी भव्य झलक : समीर उरांव

भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं राज्यसभा सांसद समीर उराँव ने कहा कि राँची में होने वाले आदिवासी महारैली भव्य एवं ऐतिहासिक होगी। उन्होंने कहा कि इस महारैली में विभिन्न आदिवासी समाज अपने-अपने आदिवासी परिधान, पारंपरिक वाद्य यंत्र नगाड़ा, मांदर, नृत्य मंडली, विभिन्न खोड़हा के टोली के साथ शामिल होंगे। श्री उरांव ने कहा कि आदिवासी महारैली में पूरे झारखंड की पारंपरिक रंग दिखाई देगी। कार्यक्रम स्थल में विभिन्न आदिवासी समाज के परिधान एवं खान-पान का प्रदर्शनी भी लगाया जाएगा।