वाह री भाजपा, सम्मान देने के पहले खिलाड़ियों से चाय-बिस्किट सर्व करा लिया

ये नई भाजपा है, भारत को बदलने वाली भाजपा है, ये भाजपा हमारी सारी परम्परा-संस्कृति को बदलेगी तभी तो नया भारत बनेगा, नया झारखण्ड बनेगा। इस बदलते भारत में जिन्हें हमें सम्मानित करना है, उनसे पहले हमें चाय-बिस्किट सर्व कराना होगा, उनसे अपनी सेवा लेनी होगी, सेवा करानी होगी, जैसा कि भाजपा कार्यालय में देखने को मिला,

ये नई भाजपा है, भारत को बदलने वाली भाजपा है, ये भाजपा हमारी सारी परम्परा-संस्कृति को बदलेगी तभी तो नया भारत बनेगा, नया झारखण्ड बनेगा। इस बदलते भारत में जिन्हें हमें सम्मानित करना है, उनसे पहले हमें चाय-बिस्किट सर्व कराना होगा, उनसे अपनी सेवा लेनी होगी, सेवा करानी होगी, जैसा कि भाजपा कार्यालय में देखने को मिला, जहां भाजपा नेताओं ने अपने ही कार्यालय में खिलाड़ियों को चाय-बिस्किट सर्व करने में लगा दिया।

दरअसल खेलो भारत के तहत कबड्डी और खो-खो के लिए चार टीमों का सेलेक्शन किया गया है, जिनमें दो पुरुष और दो महिलाओं की टीम में 60 लोगों को दिल्ली भेजा गया है, इन खिलाड़ियों की हौसला-अफजाई के लिए नगर विकास मंत्री सीपी सिंह भी आये थे, उन्होंने बकायदा ग्रुप फोटो खिंचवाया, इन खिलाड़ियों को सम्मानित किया और फिर चल दिये।

अब बात यहां यह आती है को जो बच्चे खेल के माध्यम से देश को नई दिशा देंगे, या नई दिशा देने जा रहे हैं, उनसे इसके बदले सेवा ली जायेगी, उनसे चाय-बिस्किट सर्व कराया जायेगा, क्या चाय-बिस्किट सर्व कराने के बाद खिलाड़ियों को सम्मान या उनका हक मिलेगा, क्योंकि चाय-बिस्किट सर्व करनेवाले खिलाड़ियों के चेहरे पर इस प्रकार के अपमान का दंश स्पष्ट रुप से दिख रहा था, जो भाजपाइयों के समझ में नहीं आ रहा था।

पूरा विश्व जानता है कि झारखण्ड खेल की दुनिया में अपनी अलग पहचान रखता है, चाहे तीरंदाजी हो या क्रिकेट या हॉकी या अन्य क्षेत्र सभी में झारखण्ड के खिलाड़ियों का अलग दब-दबा हैं, पर जिस प्रकार भाजपाइयों ने खिलाड़ियों से चाय-बिस्किट सर्व कराया, वो बताता है कि भाजपाइयों के नजर में यहां के खिलाड़ियों का क्या सम्मान है? यानी हाथी के दांत दिखाने के लिए कुछ और खाने के लिए कुछ।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

जो अपने विरोधियों को सम्मान नहीं दे सकता, सुशासन क्या देगा? फिसड्डी झारखण्ड

Mon Jul 23 , 2018
सिर्फ झारखण्ड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ही नहीं, बल्कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की भी बैंड बजाकर रख दी हैं, पीएसी यानी पब्लिक अफेयर्स सेन्टर ने। पीएसी ने जो सुशासन के मामले में जो रैंकिंग जारी की है, उस रैंकिग में झारखण्ड 30 राज्यों में 28 वें स्थान पर हैं, यानी बिहार और मेघालय से सिर्फ उपर, जबकि सुशासन के मामले में केरल जैसे राज्य ने अपनी सर्वश्रेष्ठता सिद्ध की है।

You May Like

Breaking News