सिल्ली में एक परिवार को झामुमो को वोट देना पड़ा महंगा, घर में घुसकर की लोगों ने पिटाई

सिल्ली के हाकेदाग में रह रहे एक परिवार को झामुमो को वोट देना महंगा पड़ गया है। कल देर रात उक्त परिवार के घर पर जाकर कुछ लोगों ने पूरे परिवार के साथ मार-पीट की तथा जान से मारने की धमकी दे डाली, मारपीट से परेशान और जान से मारने की धमकी सुन उक्त परिवार ने सिल्ली थाने जाकर प्राथमिकी दर्ज कराई है तथा स्थानीय पुलिस से सुरक्षा की गुहार लगाई है।

सिल्ली के हाकेदाग में रह रहे एक परिवार को झामुमो को वोट देना महंगा पड़ गया है। कल देर रात उक्त परिवार के घर पर जाकर कुछ लोगों ने पूरे परिवार के साथ मार-पीट की तथा जान से मारने की धमकी दे डाली, मारपीट से परेशान और जान से मारने की धमकी सुन उक्त परिवार ने सिल्ली थाने जाकर प्राथमिकी दर्ज कराई है तथा स्थानीय पुलिस से सुरक्षा की गुहार लगाई है।

सिल्ली के हाकेदाग में रह रही मंगली देवी ने अपने प्राथमिकी में लिखा है कि कल देर रात उसके घर पर कुछ लोग आये और झामुमो को वोट देने के कारण, उसके साथ दुर्व्यवहार किया, जब उसका पति उसे बचाने के लिए आगे आया तो उसके पति की भी लोगों ने पिटाई कर दी। मंगली का कहना था कि पिटाई करनेवाले लोग बोल रहे थे, कि तुम लोग नहीं सुधरेगा और जान से मारने की धमकी दे रहे थे।

कल देर रात मंगली देवी के परिवार के साथ हुए इस हादसे से पूरा परिवार डरा हुआ है, तथा अपनी परिवार की जान की सुरक्षा के लिए स्थानीय पुलिस से गुहार लगाया है तथा दोषियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है। सिल्ली में इस परिवार के साथ हुई इस प्रकार की घटना राजनीतिक प्रतिद्वंदिता में आई गिरावट का एक प्रत्यक्ष उदाहरण है, आशा की जानी चाहिए कि स्थानीय पुलिस उक्त परिवार को सुरक्षा प्रदान कराकर अपने दायित्वों का निर्वहण करेगी तथा दोषियों को जल्द गिरफ्तार करने में मुख्य भूमिका निभायेगी।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

IAS/IPS बनेंगे, अफरात पैसे कमायेंगे, पर अच्छा इंसान नहीं बनेंगे, देश बनाने का ठेका हम क्यों लें?

Wed May 30 , 2018
पिछले ही साल की बात है, सीबीएसई 10वीं की परीक्षा और झारखण्ड सरकार द्वारा आयोजित मैट्रिक परीक्षा के परिणाम आ चुके थे। ऐसे समय में, रांची से प्रकाशित अखबारों व चैनलों में, जैसा कि होता है, विभिन्न स्कूलों के उतीर्ण छात्र-छात्राओं के फोटो सहित उनके आगे की सोच के संवाद प्रकाशित किये  गये थे। कोई आईएएस तो कोई आईपीएस, कोई इंजीनियर तो कोई डाक्टर बनने का सपना देख रहा था, संभव है ये बन भी जाये,

Breaking News