गुजरात के विधानसभा चुनाव प्रचार में छा गये हैं झारखण्ड के अर्जुन मुंडा

गुजरात के विधानसभा चुनाव में आदिवासी बहुल इलाकों में भाजपा की ओर से अर्जुन मुंडा की मांग है। आदिवासी बहुल इलाकों में झारखण्ड के पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा को सुनने बड़ी संख्या में लोग आ रहे हैं और उनमें दिलचस्पी भी ले रहे हैं। अर्जुन मुंडा स्वयं इन इलाकों में मिल रहे प्रेम से आह्लादित है। भाजपा कार्यकर्ताओं का समूह उनसे कुछ प्रश्न भी करता है, तो वे उसका जवाब उपलब्ध करा रहे है।

गुजरात के विधानसभा चुनाव में आदिवासी बहुल इलाकों में भाजपा की ओर से अर्जुन मुंडा की मांग है। आदिवासी बहुल इलाकों में झारखण्ड के पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा को सुनने बड़ी संख्या में लोग आ रहे हैं और उनमें दिलचस्पी भी ले रहे हैं। अर्जुन मुंडा स्वयं इन इलाकों में मिल रहे प्रेम से आह्लादित है। भाजपा कार्यकर्ताओं का समूह उनसे कुछ प्रश्न भी करता है, तो वे उसका जवाब उपलब्ध करा रहे है, जिससे गुजरात के भाजपा कार्यकर्ताओं में उनकी अच्छी पैठ बन रही हैं।

पिछले दिनों वे गुजरात में बसे झारखण्ड और बिहार के लोगों से मिले। सूरत में भी कई लोगों से मिलकर उनका हाल-चाल पूछा। अर्जुन मुंडा के अनुसार, बिहार और झारखण्ड के लोगों से यहां मिलना, एक सुखद अनुभव रहा हैं। अर्जुन मुंडा बताते है कि गुजरात के बलसाड इलाके में उन्हें तीन जनसभा करनी है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के नेतृत्व में वे वृहद चुनाव प्रचार अभियान में जूटे है, जैसा लोगों का रुझान देखने को मिल रहा है, उससे साफ लग रहा है कि गुजरात में एक बार फिर कमल खिलेगा और विरोधी परास्त होंगे। ज्ञातव्य है कि झारखण्ड से अर्जुन मुंडा को स्पेशल गुजरात के आदिवासी बहुल इलाकों में चुनाव प्रचार के लिए बुलाया गया है।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

अगर सिस्टम फेल है, तो कैसे सुधरेगा सिस्टम? कौन सुधारेगा सिस्टम?

Thu Nov 30 , 2017
संतोषी भूख से मर जाती है। किसान आत्महत्या कर रहे है। युवा भी आत्महत्या कर रहे है। आत्महत्या करनेवालों में युवतियां और महिलाएं भी शामिल है। एक पिता अपने छोटे से बच्चे के शव को कंधे पर लेकर ढोता हुआ श्मशान घाट तक पहुंच जाता है। एक लड़की का दुष्कर्म कर हत्या कर दी जाती है, बेचारा पिता मुख्यमंत्री से संवेदना के दो शब्द सुनने की इच्छा रखता है, पर उसे सीएम की डांट मिलती है।

Breaking News