जब भाजपा के लोग आये तो पूछियेगा कि इतने वर्षों तक हमें हक-अधिकार क्यों नहीं दिया, हमें योजनाओं से दूर क्यूं रखा? – हेमन्त सोरेन

पोटका में आपकी योजना, आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में आई जनता को संबोधित करते हुए राज्य के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने कहा कि विपक्ष का कोई नेता जनता को राहत देने वाली उनके कार्यक्रम में बुलवाने पर भी नहीं आता है। ये आपकी मदद तो करते नहीं हैं आपको दूर से पत्थर मारने का काम जरूर करते हैं।

विपक्ष के लोग आपके पास आये तो पूछियेगा कि इतने वर्षों तक हमें हक-अधिकार क्यूँ नहीं दिया? हमें योजनाओं से दूर क्यूँ रखा? यह लोग सिर्फ हिंदू-मुस्लिम, आदिवासी-गैर आदिवासी कर लोगों को बांटने का काम करते हैं। पूर्व की सरकारें गूंगी-बहरी थी। हम सुनते भी हैं, और योजनाओं के साथ आपके घर-घर पहुंचते भी हैं।

जो लोग इस राज्य के घोर विरोधी थे। राज्य बनने के बाद वर्षों तक उन्होंने ही राज किया और राज्य को खोखला करने का काम किया। आपके आशीर्वाद से हमने सरकार बनायी और राज्य की जड़ों को मजबूत करने का काम शुरू किया। किसी भी व्यक्ति की तीन मुख्य जरूरतें होती हैं – रोटी, कपड़ा और मकान। हमने 20 लाख नए राशनकार्ड धारियों को हरा राशन कार्ड से जोड़ा।

अब सरकार चावल के साथ दाल भी लोगों को देगी। साल में दो बार धोती-साड़ी-लुंगी भी दे रहे हैं। झारखण्ड गरीब राज्य है। यहां आवास की अत्यधिक आवश्यकता है। लेकिन केंद्र सरकार ने आवास को लेकर हमारे आग्रह की एक न सुनी। हम अबुआ आवास के तहत लाखों परिवारों को तीन कमरों का सुसज्जित आवास देंगे, जो पीएम आवास से भी बड़ा होगा। सरकार आपके द्वार में आवास के लिए कई आवेदन आ रहे हैं। हमारा लक्ष्य आठ लाख आवास का है मगर जरूरी हुआ तो आवेदनों की जांच करने के पश्चात सभी को अबुआ आवास का अधिकार मिलेगा।

पूर्व की डबल इंजन की सरकार में सामान्य समय में भी लोग भूख से मरते थे। हमने कोरोना जैसे विकट समय में भी जब सब कुछ बंद था, लोगों की संवेदनशीलता के साथ सेवा की। हजारों युवाओं को निजी क्षेत्र में रोजगार देने का काम किया गया है। झारखण्ड के हजारों युवाओं को सरकारी नौकरी से भी जोड़ा गया है। अभी हम लोग कई हजार नियुक्तियां देने वाले हैं।

स्वरोजगार से भी हजारों युवाओं को रोजगार सृजन के अंतर्गत सहायता दी गयी है। अब वो महाजनों की नौकरी करने को विवश नहीं हैं बल्कि अपना व्यवसाय कर खुद के मालिक बन रहे हैं। हम अपनी सोच और लक्ष्य के अनुरूप राज्यभर में गांव, पंचायत और वार्ड में शिविर लगाकर लोगों को योजनाओं से जोड़ रहे हैं। मैं खुद भी जिलों में जाकर इस अभियान की समीक्षा कर रहा हूँ। बारिश में भी आप योजना का लाभ लेने शिविर में पहुंचे हैं, आप सभी को अनेक-अनेक धन्यवाद, आभार और जोहार।

आपकी योजना, आपकी सरकार, आपके द्वार कार्यक्रम का यह तीसरा चरण चल रहा है। शिविरों के जरिए राज्यभर में लोगों को योजनाओं का लाभ मिला है। पूरे राज्य में उत्सव सा माहौल है। चुनाव से पहले मैंने वादा किया था कि यह सरकार हेडक्वार्टर से नहीं चलेगी, गांव-गांव जाकर लोगों के बीच जाएगी। सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के तहत पदाधिकारी आज आपके द्वार जा रहे हैं। जबकि पूर्व की सरकार ऐसा कभी नहीं होता था।