योगदा सत्संग का दो दिवसीय ऑनलाइन साधना संगम 27 फरवरी से…

योगदा सत्संग आश्रम आत्म-साक्षात्कार के सत्यान्वेषियों के लिए दो दिवसीय साधना संगम का आयोजन आगामी 27 फरवरी को करेगा। इस  कार्यक्रम का संचालन योगदा संन्यासियों के नेतृत्व में ऑनलाइन  होगा। परमहंस योगानन्द  द्वारा स्थापित यह आध्यात्मिक संस्था कुछ अरसे से योग, ध्यान, प्रार्थना आदि का ऑनलाइन आयोजन कर रही है। आश्रम सूत्रों ने बताया कि क्रियायोगी साधकों की सुविधा और आध्यात्मिक उन्नति के लिए साधना संगम का आयोजन किया जा रहा है। इसमें देश-विदेश के हज़ारों साधक भाग लेंगे।

योगदा सत्संग आश्रम आत्म-साक्षात्कार के सत्यान्वेषियों के लिए दो दिवसीय साधना संगम का आयोजन आगामी 27 फरवरी को करेगा। इस  कार्यक्रम का संचालन योगदा संन्यासियों के नेतृत्व में ऑनलाइन  होगा। परमहंस योगानन्द  द्वारा स्थापित यह आध्यात्मिक संस्था कुछ अरसे से योग, ध्यान, प्रार्थना आदि का ऑनलाइन आयोजन कर रही है।

आश्रम सूत्रों ने बताया कि क्रियायोगी साधकों की सुविधा और आध्यात्मिक उन्नति के लिए साधना संगम का आयोजन किया जा रहा है। इसमें देश-विदेश के हज़ारों साधक भाग लेंगे। महामारी के दौर से गुज़र रहे विश्व को देखते हुए योगदा सत्संग के आश्रम और ध्यान केंद्र के बंद होने के कारण अत्यंत सुरक्षित तरीके से ऑनलाइन योग, ध्यान और प्रार्थना का सहारा लिया जा रहा है, जिसमें लाखों श्रद्धालु भाग ले रहे हैं।

इसमें सामूहिक ध्यान का लाभ मिल रहा है। परमहंस योगानन्द  ने कहा था कि समूह के अदृश्य चुंबकीय स्पंदन के विनिमय के नियम द्वारा एक साथ ध्यान करने से प्रत्येक साधक आत्म-साक्षात्कार के अपने लक्ष्य में सहयोग पाता है। आश्रम के द्वारा तय कार्यक्रम के अनुसार 27 फरवरी की सुबह छह बजे अंग्रेज़ी और हिंदी में शक्ति-संचार व्यायाम और लंबे ध्यान सत्र का आयोजन होगा। दिन के 11 बजे हं-सः प्रविधि की हिंदी में समीक्षा की जाएगी।

संध्या पांच बजे अंग्रेज़ी और हिंदी में शक्ति-संचार व्यायाम तथा ध्यान-सत्र होगा। रात आठ बजे हिंदी में प्रेरक व्याख्यान होगा। 28 फरवरी की सुबह छह बजे पहले दिन की तरह शक्ति-संचार व्यायाम तथा अंग्रेज़ी और हिंदी में लंबे ध्यान-सत्र का संचालन होगा। 11 बजे हिंदी में ओम प्रविधि की समीक्षा की जाएगी। ढाई बजे शक्ति-संचार व्यायाम का हिंदी में समीक्षा-सत्र होगा, जबकि संध्या पांच बजे हिंदी में शक्ति-संचार व्यायाम, ध्यान और समापन सत्संग का आयोजन होगा।

(यह समाचार योगदा सत्संग सोसाइटी द्वारा प्राप्त प्रेस विज्ञप्ति पर आधारित है।)

Krishna Bihari Mishra

Next Post

झारखण्ड विधानसभा के बजट सत्र में भी विपक्ष पर भारी पड़ेंगे राज्य के CM हेमन्त सोरेन

Thu Feb 25 , 2021
विपक्ष में अभी भी वो कलेवर नहीं कि हेमन्त सरकार को झारखण्ड विधानसभा में घेर ले या उसे चुनौती दे दें, ऐसा होने का मूल कारण है विपक्ष का शक्तिविहीन होना। हालांकि मुद्दे इतने है कि सरकार को घेरा जा सकता है, पर ले-देकर नेता प्रतिपक्ष के मुद्दे पर ही सरकार को घेरने की आदत विपक्ष को एक बार फिर महंगा पड़ सकता है, अगर विपक्ष, नेता प्रतिपक्ष के मुद्दे को ठंडे बस्ते में डालकर, सही मायनों में जन मुद्दों को लेकर सरकार को घेरने का काम शुरु किया, तो कुछ पल के लिए सदन में सरकार को जवाब देने में दिक्कतें आ सकती है,

Breaking News