पंचायत का तुगलकी फरमान, विधवा को किया घर से बाहर, कुणाल षाड़ंगी के एक ट्विट पर सक्रिय हुआ प्रशासन, विधवा को मिली राहत, बोकारो की घटना

0 220

जान लीजिये, भाजपा के प्रवक्ता कुणाल षाड़ंगी न तो बोकारो के भाजपा विधायक है और न ही बोकारो(धनबाद संसदीय क्षेत्र में पड़ता है बोकारो) के सांसद, फिर भी बोकारो की एक महिला, उनसे मदद की गुहार लगाती है, वो भी तब जब कोई उसकी मदद के लिए आगे नहीं आता, वह किसी से ट्विट कराकर कुणाल षाड़ंगी से मदद की गुहार लगाती हैं और जो उसके साथ होता है, वो सभी के सामने हैं।

बोकारो जिला अंतर्गत माराफारी थाना क्षेत्र के बांसगोड़ा में पंचायत के द्वारा तुगलकी फरमान जारी कर एक विधवा को पूरे परिवार के साथ घर से बाहर निकाल दिया गया। ऐसे में परेशान महिला अपने परिवार के साथ घर के बाहर कई दिनों से भूखे-प्यासे खुले में रहने को मजबूर थी। कई पुलिस अधिकारियों के कार्यालय के चक्कर लगाने के बाद भी महिला को कोई राहत नसीब नहीं हुई।

ऐसे में, गुरुवार को भाजपा प्रदेश प्रवक्ता कुणाल षाड़ंगी को ट्विटर के माध्यम से कई दिनों से चक्रवात के बीच प्रताड़ित हो रही फुलमुनि टुडू की जानकारी मिली। पूर्व विधायक कुणाल षाड़ंगी ने उपरोक्त समस्या पर त्वरित संज्ञान लेते हुए झारखंड पुलिस, बोकारो के उपायुक्त एवं पुलिस अधीक्षक से मामले को संज्ञान लेकर मदद की अपील की। कुणाल षाड़ंगी द्वारा किये गए ट्वीट पर झारखंड पुलिस मुख्यालय ने संज्ञान लेकर बोकारो पुलिस को मदद का आदेश दिया।

बोकारो पुलिस ने कुणाल षाड़ंगी और पुलिस मुख्यालय को फ़ोटो के साथ सूचित करते हुए बताया कि फुलमुनि टुडू को पंचायत भवन में उनके अपना घर बनने तक रखवा दिया गया है जहाँ उनके जरुरत का सारा सामान प्रशासन द्वारा उपलब्ध करवाया गया है। फुलमुनि टुडू ने भाजपा प्रदेश प्रवक्ता कुणाल षाड़ंगी के द्वारा किये गए मदद हेतु आभार जताया है। वहीं, कुणाल षाड़ंगी ने त्वरित पहल के लिए झारखंड पुलिस मुख्यालय के प्रति आभार व्यक्त किया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.