MDLM अस्पताल में सार्वभौम शाकद्वीपीय ब्राह्मण महासभा का राज्यस्तरीय महाधिवेशन संपन्न, सभी जिलों के प्रतिनिधियों ने लिया भाग, प्रदेश अध्यक्ष डा. अमिताभ कुमार ने की एकजुटता की अपील

सार्वभौम शाकद्वीपीय ब्राह्मण महासभा का राज्यस्तरीय महाधिवेशन रांची के बूंटी स्थित एमडीएलएम अस्पताल परिसर के धन्वन्तरि सभागार में भव्य तरीके से संपन्न हो गया। इस राज्यस्तरीय महाधिवेशन में झारखण्ड के सभी इलाकों से शाकद्वीपीय ब्राह्मणों का जुटान हुआ। सभी ने मिलकर समाज में व्याप्त कुरीतियों को शमन कर, कैसे इसे बेहतर बनाया जाये, इसके लिए आपस में विमर्श किये।

ज्ञातव्य है कि यह राज्यस्तरीय महाधिवेशन 24 अक्टूबर 2023 को महासभा द्वारा निर्वाचित नई कार्यकारिणी के द्वारा बुलाई गई थी। महासभा के सभी पदाधिकारियों ने यह सुनिश्चित किया था कि राज्यस्तरीय महाधिवेशन में मुख्य रुप से सामाजिक, राजनीतिक एवं वैचारिक विषयों पर परस्पर संवाद, विचार-विमर्श कर सभी के लिए उन्नति एवं कल्याणकारी योजना की रुपरेखा तय की जायेगी। जिससे सामाजिक एवं सामूहिक उत्थान को सार्थकता से कार्यरुप दी जा सके।

आज के राज्यस्तरीय महाधिवेशन में मुख्य वक्ता के रुप में राष्ट्रपति पदक प्राप्त पं. विजयानन्द सरस्वती, पं. वसन्त व्यास, अवधमणि पाठक, आचार्य मिथिलेश कुमार मिश्र, विभाकर मिश्र, वसन्त कुमार पाठक, उदय मिश्र, विनायक शर्मा ने भाग लिया। सभी ने महासभा के पूर्व के द्वारा किये गये सामाजिक उत्थान से संबंधित कार्यों तथा पूर्व के दिवंगत विद्वानों के पुरुषार्थ की चर्चा करते हुए कहा कि पूर्व के दिवंगत विद्वानों के सपनों का शाकद्वीपीय समाज बनाना आज समय की मांग हैं और इसके बिना बेहतर शाकद्वीपीय समाज की कल्पना नहीं की जा सकती।

अन्य वक्ताओं में सच्चिदानन्द पाठक ने कहा कि जहां से हमलोग आये, आज वहां विधर्मियों द्वारा किये जा रहे अधार्मिक कार्यों ने विश्व को प्रभावित कर दिया है। ऐसे में कुछ ऐसे भी कार्य करने की कोशिश होनी चाहिए, जो वहां के लिए भी प्रेरणास्रोत बने। कार्यक्रम में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी शिव पूजन पाठक ने भी विशेष रुप से भाग लिया।

इधर श्याम बिहारी मिश्र ने बच्चों की उन्नति, शशिकांत मिश्र व मनोज कुमार पुट्टू ने संस्कारित शिक्षा व अपने धर्म के प्रति निष्ठा रखने, शैलेन्द्र कुमार मिश्र ने आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति पर ध्यान देने, शिवचंद्र मिश्र ने स्वास्थ्य व शिक्षा, अशोक पाठक व दिलीप कुमार पांडेय ने संगठन की मजबूती, वंशीधर मिश्र ने पन्द्रह-पन्द्रह दिनों पर कम से कम एक जिले में इस प्रकार के कार्यक्रम करने, किशोर कुमार पांडेय ने नरोत्तम शास्त्री द्वारा लोहरदगा में बने सूर्य मंदिर के निर्माण में बाधा आने, शशिभूषण मिश्र ने कर्मकांड पर पकड़ बनाने और उसका विशेष प्रशिक्षण पर जोर डालने की बात कही।

झारखण्ड हाईकोर्ट के सुप्रसिद्ध वरीय अधिवक्ता अभय मिश्रा ने कार्यक्रम विमर्श में भाग लेकर माहौल को और रोचक बना दिया। उन्होंने कहा कि नाना प्रकार की समस्या है अपने समाज में, जरुरत है उस ओर ध्यान देने की, नहीं तो इस प्रकार के महाधिवेशन से कोई लाभ नहीं होगा। महिलाओं में डा. अर्चना पाठक ने महिलाओं के विकास पर जोर देने और उन्हें बेहतर शिक्षा प्रदान करने तथा घरों से निकलकर सामाजिक उत्थान में उनके विशेष योगदान पर ज्यादा बल दिया। इसके पूर्व मंगलाचरण वंशीधर मिश्र तथा श्रीमती पुष्पा पाठक ने स्वस्तिवाचन कर पूरी सभा को झंकृत कर दिया।

सार्वभौम शाकद्वीपीय ब्राह्मण महासभा के प्रदेश अध्यक्ष डा. अमिताभ कुमार ने सभी आगंतुकों का स्वागत व अभिनन्दन करते हुए सभी से कहा कि वे आपसी प्रेम को और प्रगाढ़ करें। एक-दूसरे से जुड़े रहने तथा समाज के उत्थान के लिए एक दूसरे का सहयोग करें। उन्होंने सार्वभौम शाकद्वीपीय ब्राह्मण महासभा के नाम पर गलत कार्य करनेवालों से सावधान रहने की अपील की, तथा सभी से भ्रांतियों से दूर रहने और असली सार्वभौम शाकद्वीपीय ब्राह्मण महासभा के जड़ों को मजबूत करने के लिए काम करने पर बल दिया। सभा को मंत्री रवीन्द्र कुमार मिश्र ने भी संबोधित किया, जबकि धन्यवाद ज्ञापन महासभा के सह मंत्री श्रवण कुमार ने किया।