खूंटी में हुए मोबलाइज़ लींचिंग के ख़िलाफ रांची में मानव श्रृंखला बनाकर हुआ मौन प्रदर्शन

मोबलाइ लींचिंग में मृतक दिव्यांग केलेम बारला, गंभीर घायल फागू कच्छप, फिलीप होरो को इंसाफ़ दो। ये कैसी हैवानियत, दिव्यांग को छोड़ा, मासूम बच्चों को, कर्रा(खूंटी) के दोषियों पर कार्रवाई करो, मोब लींचिंग पर नोडल पदाधिकारी और उनकी कार्रवाई कहां गई, झारखंड में मोब लींचिंग पर माननीय सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन कब होगा? धर्मखानपानचेहरे के नाम पर नफ़रती तत्वों पर ठोस कार्रवाई करो

अल्पसंख्यकों को दहशत में डालना बंद करो, मोब लींचिंग या मोब लाइ लींचिंग, मोबलाइ लींचिंग के दोषियों को फांसी दो, मोबलाइ लींचिंग के नाम पर नफ़रतउन्मादफ़साद फैलाना बंद करो, मोब लाइ लींचिंग के नाम पर जान से मारना बंद करो, जोलहाकोल्हा भाई भाई, झारखंड में अब तक हुए मोब लींचिंग के पीड़ितों को कब इंसाफ़ मिलेगा?

झारखंड को मोबलाइ लींचिंग से बदनाम करना अब तो बंद करो, मोबलाइ लींचिंग पर कर्राखूंटी प्रशासन पर कार्रवाई करो, जैसे मांगों भरे तख्तियों के साथ मानव श्रृंखला बनाकर ख़ामोश प्रदर्शन आज  शाम रतन टॉकि चौक, कोनका रोड, मेन रोड, रांची में सामाजिक एक्टिविस्टों एव सामाजिक जिम्मेदारों के द्वारा किया गया।

इस कार्यक्रम में अतिथि के रु में झारखंड आंदोलनकारी प्रेमचंद्र मुर्मू,अध्यक्ष, आदिवासी बुद्धिजीवी मंच,मजदूर नेता भुनेश्वर केवट, पत्रकार अलोका कुजूर, सुशांतो मुखर्जी, अनिता गाड़ी, चंद्रा रश्मि, अमरनाथ लकड़ा, प्रभाकर नाग, एनामुल हक आदि शामिल थे

कार्यक्रम में शामिल नदीम खान, वारिश कुरैशी, नौशाद अहमद, बशीर अहमद, जमील अख़्तर गद्दी, इफ़्तेख़ार अहमद, साज़िद उमर, मो. फ़हीम, परवेज़ उमर, दानिश रहमानी, मो. जियाउल्लाह, अकरम रशीद, चंदू, मो. कामरान, अबूजर गफ़्फ़री, मो. मोजाहिद, मो. नौशाद आलम, मतीउर रहमान डब्लू, नुरुल होदा, मुर्शीद आलम, अदीब अशरफ़ी,समेत अन्य शामिल थे

Krishna Bihari Mishra

Next Post

शहंशाह-ए-झारखण्ड CM रघुवर की जन-आशीर्वाद यात्रा को कोल्हान की जनता ने नहीं दिया भाव

Fri Sep 27 , 2019
शहंशाह-ए-झारखण्ड रघुवर दास, इन दिनों जन-आशीर्वाद यात्रा पर निकले हैं। संथाल परगना की यात्रा समाप्ति के बाद, इन दिनों ये कोल्हान में हैं। कोल्हान में इनकी सभा में भीड़ दिख नहीं रही, रोड शो में भी लोगों की रुचि नहीं हैं। कमाल है लोगों को लाने के लिए अब सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी सहारा लिया जा रहा हैं, पर जनता है कि उसे रघुवर के भाषण में दिलचस्पी नहीं।

You May Like

Breaking News