बहुचर्चित पंकज मिश्रा मामले में वरिष्ठ पत्रकार सुनील तिवारी बने हस्तक्षेप याचिकाकर्ता, रुपा तिर्की मामले में बनी आरती

0 274

विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा के खिलाफ तीर्थ नाथ आकाश एवं अन्य द्वारा झारखण्ड उच्च न्यायालय में दायर जनहित याचिका संख्या 1954/2021 में आज वरिष्ठ पत्रकार सुनील तिवारी ने अपनी ओर से एक हस्तक्षेप याचिका दायर कर दी। हस्तक्षेप याचिका दायर करने का मूल उद्देश्य यह है कि झारखण्ड उच्च न्यायालय पंकज मिश्रा मामले में जब भी सुनवाई करें, तो उनकी बात भी सुनी जाये।

बताया जाता है कि इस न्यायिक लड़ाई में सुनील तिवारी की ओर से आर एस मजूमदार उनके वकील होंगे। आर एस मजूमदार, झारखण्ड उच्च न्यायालय के पूर्व महाधिवक्ता रह चुके हैं। ज्ञातव्य है कि यह जनहित याचिका इसलिए दायर की गई थी बहुचर्चित पंकज मिश्रा के कारगुजारियों की जांच सीबीआई या अन्य एजेंसियों से कराई जाये।

सूत्र बताते है कि तीर्थ नाथ आकाश मामले में वरिष्ठ पत्रकार सुनील तिवारी इसलिए हस्तक्षेप याचिकाकर्ता बने हैं, ताकि जब किसी कारण वश तीर्थ नाथ आकाश, पंकज मिश्रा के खिलाफ महत्वपूर्ण दस्तावेज उपलब्ध नहीं करा सकें, तो उसके अनुपस्थिति अथवा उसके मदद के लिए सुनील तिवारी तैयार रहे।

उधर इसी प्रकार आरती कुजूर ने रुपा तिर्की मामले को लेकर दायर जनहित याचिका संख्या 139/2021 में हस्तक्षेप याचिका दायर कर दी, बताया जाता है कि इस मामले को भी याचिकाकर्ता चाहते है कि सीबीआई जांच हो, ताकि सही मायनों में भुक्त भोगी परिवार को न्याय मिल सकें। राजनीतिक सूत्रों की मानें तो दोनों मामलों में प्रमुख सम्मानित लोगों का कूद पड़ना बताता है कि इसका हल शीघ्रातिशीघ्र अवश्य निकलेगा, अब चाहकर भी कोई दूर नहीं भाग सकता और न ही कोई अपनी ओर से कुछ कर ही सकता है, मामला न्यायालय में हैं, अब न्यायालय क्या निर्णय लेता हैं, सभी की निगाहें उसी ओर है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.