रांची में भाजपा नेता संजय ने किया आचार संहिता का खूलेआम उल्लंघन, जनता के बीच बांटी साड़ी

भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश मीडिया प्रभारी संजय पोद्दार ने आदर्श चुनाव आचार संहिता का खूलेआम उल्लंघन किया। साड़ियां बांटी तथा साड़ियों को बांटने के बाद, सोशल साइट फेसबुक पर जनता के बीच साड़ियां बांटते हुए, उसका तीन फोटो भी अपलोड किया। संजय पोद्दार ने इन फोटो को अपलोड करते हुए लिखा है कि “मां काली मंदिर जगदम्बा ट्रस्ट मनीटोला द्वारा होली के पूर्व संध्या पर साड़ी वितरण किया गया,

भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश मीडिया प्रभारी संजय पोद्दार ने आदर्श चुनाव आचार संहिता का खूलेआम उल्लंघन किया। साड़ियां बांटी तथा साड़ियों को बांटने के बाद, सोशल साइट फेसबुक पर जनता के बीच साड़ियां बांटते हुए, उसका तीन फोटो भी अपलोड किया। संजय पोद्दार मनीटोला में रहनेवाले ग्रामीण महिलाओं के बीच साड़ियों को बांटी हैं।

संजय पोद्दार ने इन फोटो को अपलोड करते हुए लिखा है कि “मां काली मंदिर जगदम्बा ट्रस्ट मनीटोला द्वारा होली के पूर्व संध्या पर साड़ी वितरण किया गया, इस अवसर पर हमलोगों को भी वितरण करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ।” यानी उन्होंने खुद स्वीकार किया कि उन्होंने साड़ियां बांटी।

हम आपको बता दें कि चुनाव की तिथियों की घोषणा हो जाने के बाद किसी भी राजनीतिक दलों के लोगों द्वारा इस प्रकार के कार्य या कार्यक्रमों में भाग लेना आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन माना जाता हैं, अब सवाल उठता है कि जो जिला प्रशासन आजकल विभिन्न सामाजिक संगठनों के बैठक में होनेवाले गतिविधि मात्र पर ही आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप में प्राथमिकी दर्ज करा दे रहा हैं।

क्या इस मामले में भी जिला प्रशासन अपनी जागरुकता दिखायेगा या इस मामले को धत्ता बता देगा, फिलहाल इस मामले में सारी जनता का ध्यान जिला प्रशासन की ओर चला गया है कि आखिर वह कब इस मामले को गंभीरता से लेता है, तथा आचार संहिता उल्लंघन के मामले में भाजपा नेता संजय पोद्दार के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करवाता है।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

चीन ने कहा भारतीयों की हिम्मत नहीं चाइनीज प्रोड्क्टस का इस्तेमाल बंद कर दें, फिर भी भारतीयों का स्वाभिमान नहीं जग रहा

Wed Mar 20 , 2019
आप होली की मस्ती में डूबे रहिये और इधर चीन की गिद्धदृष्टि भारत पर आकर जम गई है। लीजिये फिर उसने धमकी दे डाली और आपके स्वाभिमान को ललकारते हुए कहा, भारतीयों तुम्हें चाइनीज प्रोडक्टस इस्तेमाल करने ही होंगे। शायद चीन को पता है कि भारतीयों का कोई स्वाभिमान नहीं होता, वे वहीं करते हैं, जो उन्हें करने में आनन्द देता हैं। भारतीय, जापानियों या इजराइल के नागरिकों की तरह नहीं कि जो कहें और वे करें।

You May Like

Breaking News