धनबाद के चर्चित मैनेजर राय भाजपा रुपी गंगा में डूबकी लगा हुए पवित्र, BJP ऐसे और लोगों को पार्टी में शामिल करा देश का बढ़ायेगी मान

20 सितम्बर का दिन धनबाद भाजपा के लिए बड़ा ही पवित्र दिन माना जाता है, क्योंकि इसी दिन कोयलांचल के चर्चित कोयला कारोबारी, जिन पर कोयला चोरी के कई अपराधिक मामले विभिन्न थानों में दर्ज हैं, उसने भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रशिक्षण प्रमुख तथा निरसा से भाजपा कैंडिडेट के रुप में चुनाव लड़ चुके तथा वर्तमान में भी निरसा विधानसभा के संभावित भाजपा प्रत्याशी गणेश मिश्र के समक्ष भाजपा की सदस्यता ग्रहण किया।

20 सितम्बर का दिन धनबाद भाजपा के लिए बड़ा ही पवित्र दिन माना जाता है, क्योंकि इसी दिन कोयलांचल के चर्चित कोयला कारोबारी, जिन पर कोयला चोरी के कई अपराधिक मामले विभिन्न थानों में दर्ज हैं, उसने भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रशिक्षण प्रमुख तथा निरसा से भाजपा कैंडिडेट के रुप में चुनाव लड़ चुके तथा वर्तमान में भी निरसा विधानसभा के संभावित भाजपा प्रत्याशी गणेश मिश्र के समक्ष भाजपा की सदस्यता ग्रहण किया।

बताया जाता है कि जैसे ही मैनेजर राय के भाजपा में शामिल होने की खबर आई, भाजपा और इस प्रकार के आरोपियों में खुशी की लहर दौड़ गई, इधर भाजपा के लोगों का कहना था कि आज भाजपा को ऐसे ही लोगों की जरुरत हैं, जिनके पास अफरात पैसे हो, जिसकी समाज में खूब चर्चा हो, चाहे वह चर्चा गलत काम के ही कारण क्यों हो।

एक भाजपा नेता ने तो बातचीत में विद्रोही24.कॉम से इस संबंध में सीधे कहा कि भाजपा गंगा है, जो भी इसमें आयेगा, वो पवित्र हो जायेगा, चाहे वह ढुलू हो या मैनेजर राय। उसका यह भी कहना था कि मैनेजर राय जैसे महान लोग पर कोयला चोरी के आरोप है, और आरोप लग जाने से कोई अपराधी नहीं हो जाता, जब तक न्यायालय उसे दोषी करार दें।

ऐसे मैनेजर राय समाज और भाजपा के लिए बहुत उपयोगी साबित होंगे, ऐसा उसका विश्वास है। इधर धनबाद ही नहीं, बल्कि ऐसे कई लोग हैं, जो विभिन्न प्रकार के अपराध या कांडों में फंसे हैं, उन्होंने भी स्वयं को पवित्र करने के लिए, और हर प्रकार से दोष मुक्त होने के लिए भाजपा को अपनाने के लिए हाथपैर मारना शुरु कर दिया है, ताकि बहती गंगा में वह भी मोक्ष को प्राप्त कर लें, आनेवाले समय में ऐसे लोग बड़ी संख्या में भाजपा में शामिल हो, तो इस पर किसी को भी आश्चर्य नहीं होना चाहिए।

इधर जो लोग मैनेजर राय के बारे में जानते हैं, वे उसके सारे कारोबार के बारे में जानते हैं, वे कहते है कि मैनेजर राय के बारे में धनबाद का बच्चाबच्चा जानता है कि वह क्या है? रही बात न्यायालय से बच निकलने की, तो वह नहीं बचकर निकलेगा तो और कौन निकलेगा? जिसकी दोस्ती राज्य के बड़ेबड़े आइपीएस पुलिस अधिकारियों के साथ हैं, जिनको मैनेजर राय हमेशा उपकृत करता रहा है, भला उसे कौन दोषी ठहरायेगा? आखिर जब रिपोर्ट बनवानेवाला, किसी को दोषी ठहरानेवाला ही, आरोपी से उपकृत हो, तो भला उसे कौन न्यायालय कैसे दोषी ठहरायेगी?

सूत्र बताते है कि ऐसे जब भी मैनेजर राय पर कोयलाचोरी का आरोप लगा, उसका केस सीआइडी को स्थानान्तरित हुआ, लेकिन जब धनबाद में एसपी सुमन गुप्ता रही, तब मैनेजर राय की सारी हेकड़ी निकल गई थी। सूत्र बताते है कि एसपी सुमन गुप्ता के समय केवल मैनेजर राय की ही नहीं, बल्कि धनबाद में उन सारे लोगों की आफत गई थी, जो राजनीतिक पहुंच और बड़ेबड़े अधिकारियों की वजह से खुद को बचा लिया करते थे।

सूत्र बताते है कि मैनेजर राय की भी हालत एसपी सुमन गुप्ता ने खराब कर दी थी, और वह भी उस वक्त जब मैनेजर राय के उपर कोई हाथ नहीं रखना पसन्द करता था। सूत्र बताते हैं कि मैनेजर राय की इतनी चलती है कि यूपी, बिहार, झारखण्ड और बंगाल तक उसकी तूती बोलती है, और हर जगह के पुलिस वाले उसकी सेवा में लगे रहते हैं, तथा उसके बदले में मैनेजर राय सबको उपकृत करता रहता है।

सूत्र बताते है कि परमेश्वर राय उर्फ मैनेजर राय के बहुत सारे राजनीतिज्ञों पुलिस अधिकारियो से मधुर संबंध रहे हैं, जिसके कारण उसके उपर जितने भी आरोप लगे, उससे वो बचता रहा, अब तो वह भाजपा में ही शामिल हो गया, इसका मतलब उसे अब कोई छू भी नहीं सकता, क्योंकि भाजपा के लोगों के अनुसार, देश में भाजपा ही एक ऐसी पार्टी हैं, जहां कोई भी अपराधी ही क्यों हो, जैसे ही भाजपा में प्रवेश करता है, उसे मोक्ष की प्राप्ति हो जाती है।

ऐसे में मैनेजर राय हर प्रकार से फिलहाल दोष मुक्त हैं, भाजपा उनके कारण और मजबूत हो गई, मैनेजर राय के भाजपा में शामिल होने से इस बात को भी बल मिला कि सचमुच भाजपा गंगा हैं, भाजपा मुक्तिदायिनी हैं, अतः वे सारे लोग जो किसी किसी प्रकार के अदालत की चक्कर काट रहे हैं, अच्छा रहेगा भाजपा में शामिल हो जाये, क्योंकि भाजपा सबका उद्धार करेगी, अरे जब ढुलू महतो पर लगे यौन शोषण के आरोप के बावजूद, भाजपाइयों ने ढुलू के खिलाफ कोई यौन शोषण का प्राथमिकी तक दर्ज नहीं होने दिया। 

यहां तक की हाई कोर्ट के बात को भी यहां के पुलिस अधिकारियों ने अनसुना कर दिया तो फिर समझने की कोशिश कीजिये, कि भाजपा क्या है? एक ही मामला झाविमो नेता प्रदीप यादव जेल में और भाजपा का ढुलू महतो बेल नहीं, बल्कि उसके खिलाफ प्राथमिकी तक नहीं, आखिर ये भाजपा में रहने का ही तो कमाल है, ऐसे में जो भाजपा में जो रहे, वो पवित्र कैसे रहे?

Krishna Bihari Mishra

Next Post

जब 14 सालों तक चोरों के गठबंधन का शासन था, तो फिर अर्जुन मुंडा के बारे में क्या ख्याल है? CM साहेब

Tue Sep 24 , 2019
इन दिनों राज्य के अब तक के सर्वाधिक स्वघोषित होनहार मुख्यमंत्री रघुवर दास मूड में हैं, वे क्या बोल रहे हैं? उनको खुद नहीं सूझ रहा, लेकिन मुख्यमंत्री के अनाप-शनाप भाषण पर भी उनके चाहनेवाले खुब लोट-पोट हो जा रहे हैं, उन लोट-पोट होनेवालों को यह भी नहीं पता कि मुख्यमंत्री अपने भाषण के द्वारा अपने ही पार्टी (भाजपा) से पूर्व में बने मुख्यमंत्री को चोर कहने से भी नहीं चूक रहे।

Breaking News