विधानसभा में तो सत्ता में भाजपा को आने नहीं देंगे, लोकसभा में भी सोचेंगे कि किसे वोट दिया जाय?

16 घंटे बीत चुके है,  मुख्यमंत्री रघुवर दास, अपने सोशल साइट फेसबुक पर क्या कह रहे हैं? जरा पढ़िये। उसके तुरंत बाद जनता का रिएक्शन भी देखिये, कि जनता का मुख्यमंत्री रघुवर दास और उनके कारनामे पर क्या कमेंट्स हैं। पता लग जायेगा कि जनता पर मुख्यमंत्री रघुवर दास की कितनी पकड़ हैं? सीएम की ब्रांडिंग कर रहे, सोशल साइट्स देख रहे लोग, कैसे सीएम की बातों को जनता के बीच रख रहे हैं?

16 घंटे बीत चुके है,  मुख्यमंत्री रघुवर दास, अपने सोशल साइट फेसबुक पर क्या कह रहे हैं? जरा पढ़िये। उसके तुरंत बाद जनता का रिएक्शन भी देखिये, कि जनता का मुख्यमंत्री रघुवर दास और उनके कारनामे पर क्या कमेंट्स हैं। पता लग जायेगा कि जनता पर मुख्यमंत्री रघुवर दास की कितनी पकड़ हैं? सीएम की ब्रांडिंग कर रहे, सोशल साइट्स देख रहे लोग, कैसे सीएम की बातों को जनता के बीच रख रहे हैं? और कैसे जनता की बात को वे हवा में उड़ा रहे हैं? क्योंकि मेरा मानना है कि अगर सीएम रघुवर दास तक जनता की बात पहुंचती तो राज्य की यह दशा नहीं होती, बात स्पष्ट हैं कि कनफूंकवों ने सीएम तक गलत बात पहुंचाने का ठेका ले रखा हैं, और वे यहीं काम कर रहे हैं। चूंकि सीएम रघुवर दास ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को कल कहा है कि वे जनहित में सरकार के कार्य तेजी से पहुंचे, इसके लिए सोशल साइट्स का इस्तेमाल कर रहे हैं, लोगों के साथ संवाद स्थापित करने के लिए भी सोशल मीडिया का सहारा लिया जा रहा हैं, पर सच्चाई तो कुछ और ही कह रही हैं…

जरा देखिये, सीएम रघुवर दास का उनके पेज पर का यह पोस्ट…

प्रधानमंत्री श्री Narendra Modi जी और Bharatiya Janata Party (BJP) के अध्यक्ष श्री Amit Shah जी की अध्यक्षता में BJP के मुख्यमंत्रियों की बैठक हुई। बैठक में माननीय प्रधानमंत्री जी का मार्गदर्शन मिला। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के विजन के अनुसार झारखण्ड सरकार प्रदेश में गरीब कल्याण के लिए समग्र प्रयास कर रही है। समावेशी विकास के मूल मन्त्र के साथ गरीबों के कल्याण के लिए झारखण्ड में सरकार ने कई योजनाएं शुरू की हैं। अंत्योदय का मंत्र देने वाले पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी की जन्म शताब्दी वर्ष में समाज की अंतिम पंक्ति में बैठे लोगों का विकास हो रहा है। लोगों तक सरकार द्वारा किए गए कार्य तेजी से पहुंचे,  जनता से संवाद हो इसके लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया जा रहा है। प्रधानमंत्री जी के निर्देशानुसार 2022  तक किसानों की आय दोगुनी करने के संकल्प को पूरा करने के लिए ठोस रणनीति बनाकर काम किए जा रहे हैं। स्वच्छ पेयजल आपूर्ति के लिए राज्य में 608 योजनाएं चल रही हैं,  जिसमें 1286  करोड़ रुपए से अधिक राशि खर्च करने का प्रावधान किया गया है। किसानों के हित में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत 1 साल में 7 लाख लोगों को झारखण्ड में बीमा कवरेज दिया जा चुका है। साथ ही केंद्र सरकार की लोक कल्याणकारी योजनाओं को भी धरातल पर उतारने की दिशा में तेजी से काम किया जा रहा है।

और अब आम जनता का इस पर रिएक्शन देख लीजये क्या हैं?  साथ ही पूछिये, मुख्यमंत्री रघुवर दास से और उनके कनफूंकवों से कि, क्या जनता की बातें, सीएम रघुवर दास तक पहुंचाई गई? अरे भाई, एक भी रिएक्शन सरकार के पक्ष में नहीं हैं, सरकार के खिलाफ जनाक्रोश साफ दिखाई पड़ रहा हैं। आप कहां हैं?

Sumit Kumar महिला पर गर्व है तो फिर आप ही के केन्द्र मुख्यमन्त्री जन संवाद केन्द्र की महिला कर्मी द्वारा दिनांक 19/01/2017 को राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष से की गई शिकायत पर आज तक कोई कार्रवाई नही हुई. ज़िसमे इस केन्द्र को चलाने वाली कम्पनी माईका एजुकेशन प्रा. लिमिट…See more

Basant Joshi संवेदन हीन व्यौवस्था:-
पचास रुपये की कमी के कारण बच्चे की मौत मानवता को शर्मसार करने वाली घटना झाड़खण्ड के राजेन्द्र इन्सीट्यूट आंफ मेडिकल सांइस (रिम्स) की में घटित हुई।…See more

Rahul Raj meeting ma Kya Kya hua sir

Kamta Nath Tiwary #RaghubarDas#PMO #NarandraModi
I have written this following letter to PMO.
“Sir, with all due respect and behalf of 5000 villagers, I want to draw your attention on pathetic road condition of my village (Tolra, Bishrampur, Jharkhand). Our people whole heartedly voted your candidates in Parliamentary election and Assembly Election. We are hopeful since the day we got Independence. We are very disheartened and heartbroke to see that the situation has hardly improved in past 70 years and it is getting worst. It feels like that we disowned and isolated from main channel of development. Time and again people have raised this issue and concern, but all our efforts have been kept in vein and often suppressed. This is probably second instance, where I am trying to draw your attention towards the pathetic road condition (but the ground reality is that, there hasn’t been any construction of Tar road till date in last 70years). However, our hopes are still high held. Please look into this matter and oblige 5000 villagers, who are waiting to get connected to Mainstream.
Thanks and Regards,
Kamta Nath Tiwary ”

Mayur Verma Kewal election aur win kam to ho nai rha h rims me har din 5 person ki maut hoti h carelessness ke karan rakha shakti university me labur ka sosham hota h theka me employee rakhe ho 5000 deke aplog khud rule ko todte ho

Anil Singh Rathore आप मुख्यमंत्री के लायक नही है झारखण्ड मे आराजकता फैली है कही बच्चा मर रहा है कही महिला इसबार हारने की तैयारी कीजिये

Babu Munir Khan रामचंद्र चंद्रवंशी अबतक के सबसे घटिया कैबिनेट स्वास्थ्य मंत्री

Binod Kumar Bhagat All Student ,झारखण्ड के हरेक ज़िला मे संसद ,विधायक का पुतला ज़ालाव जी ……ढ़रोगा भर्ति छात्रवृति कतोटी टिचर भर्ती मे मन मानी कर रही है सारे MP & MLA CM (JHARKHAND) चाल रही है तेयारी बरहरवा मे MP(राजमहाल ) , MLA (pakur)& CM(झरखण्ड ) का होगा पुतला धाहान की संभवना …..है ……

Saty Narayan Prasad अगर, पंथ यानी मजहब अर्थात रिलिजन को धर्म कहोगे तो #अधर्म किसको कहोगे ?
हिन्दू अधर्म, ईसाई अधर्म, इस्लाम अधर्म जैसे कृत्य भी होंगे क्या ?

Sandeep Agarwal आप से झारखंड का हर युवा नाराज है इसका असर 2019 के चुनाव में आप को झारखंड में दखने को जरूर मिलेगा।

Man Ish महाशय ,, आप हमारे मतों से मुख्य मंत्री बने हैं , अगर आप से नही हो रहा तो ईमान्दारी से राज्य और पार्टी हित में किसी और को मौका दिजीये . …क्यूँ कि हेमन्त सोरेन और आपकी सरकार में कोई खास अंतर नही दिख रहा अब तक … कहीं देर ना हो जाये …

Anwar Adeeb Margdarshan mandali me yo Advani ji hain woh marg darshan nahin karate?

Varun Yadav Chas nagar nigam me water supply pichle lagbhag 50 din se nahi Ho rha h. Plz isey thik karwaiye .

Kundan Raj kewal marg darshan or hawai sarwakchan hi kijiye isiliye to aapko janta chunwe kiya h …

Ashu Kumar Das मुख्यमंत्री जी शक्ति पिठ रजरप्पा में जम कर शराब की बिक्री खुलेआम हो रहा है आप कृपया इस ओर ध्यान दें

Lalchand Kumar Hamare Garhwa distic k kandi prakhand me BijLi nhi h uske liye koi plan nhi h kyaa….

Indradeo Pandit 50 rupees ke karan bachhe mar rahe h isko continue rekhna h yahi margdarshan mila hoga

Nishant Kumar Bjp hatao berojgari bhagao.. Kam se Kam congress job to deti thi.. Ye bjp se kuch na ho paega..

Shree Ram मनरेगाकर्मी भी गरीब किसान के बच्चे हैं इनके पास भरपूर व्यवस्था होता तो इतने कम मानदेय पर काम नही करते ।

Vanitesh Jha Sir aaj jharkhand me itne padhe likhe berojgaar hai aap chahe to 1 lakh tet pass berojgaar ko nakuri de sakte hai sir Harare liye salary jyada jaruri nahi hai sirf roojgaar chahye sir plese aap 1 teacher ko itna paisa dete ho lakin aap k pass itna berojgaar tet pass teacher hai jinhe aap 10000 rupaye denge to use rojgaar mil jayega aur siksha me v sudhaar hoga teacher ki samsya khatam ho jayegi.

Rana Ranjit Singh Sir age to gen ka 30 hona hi chaiye…10 saal baad vacancy aya hai sir iska dhyan rakha jaye

Prince Raj माननीय मोदीजी सही है देश को आगे ले जाने कि पुर जोर कोशिस करते है पर आपका कार्यकाल एवं राज्य को सही दिशा में ले जाने में असफल ।।

मतलब जनता पीएम नरेन्द्र मोदी से उतनी नाराज नहीं है, जितनी नाराज झारखण्ड के मुख्यमंत्री रघुवर दास की कार्यशैली से हैं। वह सिर्फ यह चाहती हैं कि जो आधारभूत संरचनाएं हैं, जो जीवन की प्राथमिकताओं में हैं, केवल उसे ही ठीक कर दीजिये पर जनाब को कनफूंकवों से फुर्सत मिले तब न, इसलिए जो कनफूंकवां कहेगा, सीएम वहीं सुनेगा। जहां कनफूंकवों से सरकार चलती है, वहां तो जनता नाना प्रकार के दुखों को भोगती हैं। अब तो जनता ये भी कहने लगी हैं कि भाई रघुवर जी, अब कितना, ढाई साल बीत गये, अब आपकी सत्ता के दिन गिनती के हैं, अगर नरेन्द्र मोदी ने आपकी विदाई झारखण्ड से नहीं की,  तो फिर हमलोग लोकसभा में भी सोचेंगे कि किसे वोट दिया जाय।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

स्वास्थ्यमंत्री चंद्रवंशी जी, यह अपराध है, इसे क्षमा नहीं किया जा सकता

Tue Aug 22 , 2017
आज एक बार फिर झारखण्ड में अमानवीय घटना घट गई, एक महिला ने सड़क पर बच्चे को जन्म दे दिया और बेहतर स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने की ढोंग करनेवाली सरकार और उसके स्वास्थ्य अधिकारियों ने उक्त गर्भवती महिला की एक नहीं सुनी, उसको एंबुलेंस तक उपलब्ध नहीं कराया। आखिर उक्त महिला का कसूर क्या था?  आखिर ये स्वास्थ्य केन्द्र और एंबुलेंस किसलिये हैं?

Breaking News