अब झारखण्ड में वही होगा, जो झारखण्डी चाहेंगे, आदिवासी चाहेंगे – हेमन्त

आज राज्य के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन खरसावां में थे। उन्होंने खरसावां जाकर, खरसावां गोलीकांड में मारे गये लोगों को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की, तथा लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि झारखण्ड के लोगों ने जिस विश्वास के साथ उन्हें सत्ता सौपी है, वे विश्वास रखें, उनके विश्वास को वे बनाये रखेंगे, राज्य में वही होगा, जो झारखण्डी चाहेंगे, आदिवासी चाहेंगे।

उन्होंने कहा कि हमें अपनी वीर शहीदों के आदर्शों, उनकी उम्मीदों और आकांक्षाओं पर अब खड़ा उतरने की आवश्यकता हैं, ताकि हम गर्व से सर उठाकर चल सकें। हेमन्त सोरेन ने लोगों को विश्वास दिलाया कि खरसावां गोलीकांड में मृत प्रत्येक शहीदों के परिवारों को राज्य सरकार नौकरी देगी तथा उन्हें सम्मानपूर्वक जीवन जीने का अवसर दिलायेगी।

उन्होंने लोगों को विश्वास दिलाया कि अब राज्य में उनकी सरकार है, इसलिए इस राज्य में राज्य सरकार कोई ऐसा काम नहीं करेगी, जिससे राज्य की जनता को कष्ट हो, जो भी निर्णय लिये जायेंगे, वे झारखण्ड हित में ध्यान रखकर लिये जायेंगे। उन्होंने कहा कि झारखण्ड कैसे ऊंचाई पर ले जाना है, इसके लिए हर वर्ग के लोग अभी से ही तैयारी करें, क्योंकि सभी को साथ लेकर चलने से ही झारखण्ड का गौरव बढ़ेगा।

हेमन्त सोरेन का सत्ता प्राप्ति के बाद यह पहली जनसभा थी, जिसमें उन्होंने खुलकर अपनी बातें रखी, तथा लोगों को विश्वास दिलाया कि यहां अब किसी की भूख से मौत नहीं होगी, सबको भोजन मिले, उसका अधिकार मिले, ये सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि पिछले पांच साल में जिस प्रकार राज्य सरकार ने झारखण्ड को दाग लगाने की कोशिश की है, उस दाग को मिटाने के लिए वे आज से ही निकल पड़े है।

हेमन्त सोरेन ने कहा कि का मूल उद्देश्य अपनी मां-बहनों, बेटियों के सम्मान को बढ़ाना तथा उचित शिक्षा दिलवाना है, इस लक्ष्य को भी हम सब मिलकर प्राप्त करेंगे। उन्होंने कहा कि जिस हाल में उन्हें झारखण्ड मिला है, वह चुनौतियों भरा है, उसके बावजूद भी हम इसे संवारने की कोशिश करेंगे, उन्हें आशा ही नहीं बल्कि पूर्ण विश्वास है कि शहीदों एवं शहीदों के परिवारों तथा राज्य की जनता का आशीर्वाद उनके साथ हैं, वे कामयाब होंगे।