मथुरा प्रसाद महतो ने धनबाद के होमगार्ड अभ्यर्थियों से जुड़ा मुद्दा सदन में उठाया

182

झारखण्ड मुक्ति मोर्चा के टुंडी विधायक एवं सत्तारुढ़ दल के सचेतक मथुरा प्रसाद महतो ने आज विधानसभा में शून्य काल के दौरान झारखण्ड गृह रक्षा वाहिनी से जुड़े मुद्दे उठाए, जो धनबाद से जुड़े हैं। मथुरा प्रसाद महतो ने सदन में सवाल उठाते हुए कहा कि झारखण्ड गृह रक्षा वाहिनी नियुक्ति निविदा 2017 में धनबाद जिले के 735 अभ्यर्थियों का चयन हुआ था। जिसमें चयनित अभ्यर्थियों का स्वास्थ्य जांच एवं अन्य प्रक्रिया पूरी कर ली गई।

परन्तु 2017 से लेकर आज तक चयनित अभ्यर्थियों को प्रशिक्षण से वंचित रखा गया है, तथा संबंधित नियुक्ति के संबंध में जिला मुख्यालय में जांचोपरांत पता चला कि उक्त नियुक्ति का शारीरिक जांच परीक्षा की सीडी गुम हो गया है। मथुरा महतो ने कहा कि वे शून्य काल के माध्यम से सरकार से मांग करते है कि धनबाद जिले में झारखण्ड गृह रक्षा वाहिनी नियुक्ति 2017 की उच्चस्तरीय जांच कराकर दोषी पदाधिकारियों पर कार्रवाई करते हुए नियुक्ति किया जाय।

सचमुच जिला मुख्यालय से शारीरिक जांच परीक्षा की सीडी गुम हो जाना, एक गंभीर मामला है, आखिर जिन्हें शारीरिक जांच परीक्षा की सीडी ठीक से रखनी थी, वे अधिकारी कर क्या रहे थे, और 2017 से जब यह मामला चल रहा था तो जब-जब ये होमगार्ड के अभ्यर्थी तत्कालीन मुख्यमंत्री रघुवर दास से मिलकर जब समस्या रखनी चाहते थे, तब उन्होंने ये समस्या सुनी क्यों नहीं?

मथुरा महतो ने शून्यकाल में होमगार्ड के अभ्यर्थियों से जुड़ी सवाल को उठाकर, होमगार्ड के अभ्यर्थियों के चेहरे पर मुस्कान लाने की कोशिश की है, अगर वर्तमान सरकार इस मसले पर ध्यान देती है, तो निःसंदेह इन अभ्यर्थियों का भला हो जायेगा।

Comments are closed.