झामुमो का BJP के लिए नया नारा, अबकी बार 400, 300 या 200 नहीं, सीधे बंगाल की खाड़ी के पार

झारखण्ड मुक्ति मोर्चा के वरिष्ठ नेता व प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने आज प्रेस कांफ्रेस कर कहा कि जिस प्रकार से चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत में भाजपा के लोग अबकी बार 400 पार का नारा दे रहे थे और कल जिस प्रकार से दिल्ली में अमित शाह-पीएम मोदी की प्रेस कांफ्रेस में अमित शाह ने अबकी बार 300 पार कहा था।

झारखण्ड मुक्ति मोर्चा के वरिष्ठ नेता प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने आज प्रेस कांफ्रेस कर कहा कि जिस प्रकार से चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत में भाजपा के लोग अबकी बार 400 पार का नारा दे रहे थे और कल जिस प्रकार से दिल्ली में अमित शाह-पीएम मोदी की प्रेस कांफ्रेस में अमित शाह ने अबकी बार 300 पार कहा था।

देखियेगा कल मतदान के अंतिम चरण के दिन उनका नारा अबकी बार 200 पार और 23 तारिख के बाद अबकी बार बंगाल की खाड़ी के पार उनका नारा हो जायेगा, क्योंकि जिस प्रकार कल पीएम मोदी का बॉडी लेंग्वेज देखने को मिला, वह बता रहा था कि थका हुआ, पराजित पीएम अब बोलने की स्थिति में नहीं हैं, खुद अमित शाह के द्वारा भी पीएम मोदी को बोलने नहीं दिया गया।

उन्होंने कहा कि पहली बार देखने को आया कि इस सरकार ने सभी संवैधानिक संस्थाओं को ध्वस्त करने का काम किया,  वो चाहे सर्वोच्च न्यायालय हो, या रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया हो या केन्द्रीय चुनाव आयोग ही क्यों न हो। हर जगह इनलोगों ने हस्तक्षेप किया, जिससे गंभीर संवैधानिक संकट उत्पन्न हो गये। उन्होंने कहा कि इसका दृश्य रांची में भी देखने को मिला।

जब छः तारीख को राज्य मुख्य निर्वाची पदाधिकारी द्वारा ये कहे जाने पर कि हेमन्त सोरेन ने कोई गलतियां नहीं की, उसके बावजूद सीएम रघुवर के कहने पर यहां के जिला निर्वाची पदाधिकारी ने नेता प्रतिपक्ष हेमन्त सोरेन के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करवाई, जिसका झामुमो ने कड़ा प्रतिवाद किया, उसका परिणाम है कि कल यानी 17 मई को राज्य मुख्य निर्वाची पदाधिकारी ने जिला निर्वाची पदाधिकारी से स्पष्टीकरण मांगा है कि उन्होंने किस परिस्थिति में प्राथमिकी दर्ज करवाई?

सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि केन्द्र से लेकर राज्य तक इन भाजपा के नेताओं ने संवैधानिक संस्थाओं को ही हाईजैक कर लिया हैं, जिसे किसी भी हालत में सही नहीं ठहराया जा सकता। ये लोग दरअसल देश की सभी संवैधानिक संस्थाओं को ही नष्ट कर देना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि आश्चर्य है कि जो पीएम मोदी झारखण्ड के कई इलाकों में उपस्थिति दर्ज कराई, चुनावी रैलियां की, पर दुमका आने से कतरा गये, उन्हें दुमका भी आना चाहिए था, पता लगता कि यहां की जनता उन्हें कितना पसंद करती है।

उन्होंने कहा कि कल सीएम रघुवर दास बाबा वैद्यनाथ मंदिर में जाकर पूजा अर्चना कर अपना चुनावी कार्यक्रम संपन्न किया और दूसरी ओर देश के पीएम केदारनाथ यात्रा पर हैं, दोनों अपने किये गलतियों के लिए अपने-अपने ढंग से भगवान से माफी मांग रहे हैं, पर अच्छा रहता है कि ये दोनों अपने साढ़े चार-पांच सालों के गलत कार्यों के लिए जनता से माफी मांगते, क्योंकि लोकतंत्र में जनता ही मालिक होती है, जनता ही भगवान होता है।

उन्होंने कहा कि कल मतदान का अंतिम दिन हैं और यहां के तीनों सीटों पर महागठबंधन की जीत तय हैं, ऐसे में यहां वोट पोलिंग कम कराने के लिए राज्य सरकार कुछ भी कर सकती हैं, वे चाहेंगे कि उनके इलाके में 70-80 प्रतिशत से भी ज्यादा मतदान हो, ताकि गुरुजी शिबू सोरेन भारी मतों से इस चुनाव में अपनी उपस्थिति दर्ज करा सकें।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

सासु से वैरी पुतोहू से नाता, फूट गइल किस्मत भाजपा के विधाता, सभी 14 सीटों पर BJP की फजीहत तय

Sat May 18 , 2019
भाजपा के तथाकथित लोग, जिनको जनता जानती तक नहीं, अगर ये भाषण देने खड़े हो जाये तो जनता इनके भाषण को छोड़ सब्जी लाने चल दें। चाय की दुकान तक, जिस नेता को लोग बैठने न दें। वे भाजपा के बड़े नेता बनकर गेरुवाधारी बने हुए हैं, माथे बड़का-बड़का लाल चंदन घिसे जा रहे हैं, लेकिन जिसका जनाधार हैं, जिसके नाम पर मोदी मिशन बना हुआ है, जिसके कार्यकर्ता बिना किसी सहयोग के ही मोदी-मोदी चिल्लाते रहे हैं,

Breaking News