झामुमो ने अपने बागी विधायक जय प्रकाश को औकात बतायी, छः वर्षों के लिए पार्टी से किया निष्कासित

झारखण्ड मुक्ति मोर्चा के महासचिव सह प्रवक्ता विनोद कुमार पाण्डेय ने झामुमो के मांडू विधायक जय प्रकाश पटेल को पत्र लिखकर, सूचित कर दिया है कि उन्हें झारखण्ड मुक्ति मोर्चा के सभी सांगठनिक पदों से मुक्त करते हुए पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से आगामी छः वर्षों के लिए निष्कासित कर दिया गया है। ज्ञातव्य है झामुमो के मांडू विधायक जयप्रकाश पटेल को 19 अप्रैल को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था,

झारखण्ड मुक्ति मोर्चा के महासचिव सह प्रवक्ता विनोद कुमार पाण्डेय ने झामुमो के मांडू विधायक जय प्रकाश पटेल को पत्र लिखकर, सूचित कर दिया है कि उन्हें झारखण्ड मुक्ति मोर्चा के सभी सांगठनिक पदों से मुक्त करते हुए पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से आगामी छः वर्षों के लिए निष्कासित कर दिया गया है।

ज्ञातव्य है झामुमो के मांडू विधायक जयप्रकाश पटेल को 19 अप्रैल को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था, जिसके प्रत्युत्तर में कोई जवाब नहीं आया। पार्टी का कहना है कि कारण बताओ नोटिस का कोई जवाब नही दिया जाना इस बात को प्रमाणित करता है कि झामुमो विधायक जय प्रकाश पटेल ने पार्टी के प्रति अनुशासनहीनता बरती।

विनोद कुमार पांडेय का कहना है कि जय प्रकाश पटेल के खिलाफ जो भी आरोप एवं साक्ष्य पार्टी को प्राप्त हुए है, वह पूर्णतः सत्य है, जो पार्टी के संविधान के खिलाफ है एवं अनुशासनहीनता को प्रमाणित करता है, ऐसे में झामुमो जय प्रकाश पटेल के खिलाफ कोई भी निर्णय लेने को स्वतंत्र था। इस बात की जानकारी विनोद कुमार पांडेय ने आज रांची में संवाददाताओं को दी।

सूत्र बताते है कि झामुमो विधायक जय प्रकाश पटेल पिछले कुछ महीनों से झारखण्ड मुक्ति मोर्चा के खिलाफ जाने का मूड बना चुके थे, बस वे मौके की तलाश में थे, उन्हें बहाना चाहिए था, और वो मौका लोकसभा चुनाव में मिल गया, उन्होंने झामुमो के खिलाफ आवाज बुलंद कर दी, और लगे हाथों पार्टी के विरुद्ध जाते हुए भाजपा और आजसू से गलबहियां कर ली, जिसके खिलाफ झामुमो में उनके खिलाफ एक्शन लेने के लिए दबाव बनता चला गया।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

अरे भाई ये कौन नमूना है, जो महागठबंधन के नेताओं को माओवादियों के नाम पर धमकी दिये जा रहा है

Sun Apr 28 , 2019
अरे भाई ये कौन नमूना है, जो अपने पैड का दुरुपयोग कर, झारखण्ड की राजनीति में भूचाल लाने की कोशिश कर रहा है, इसके पहले झाविमो सुप्रीमो बाबू लाल मरांडी को, और अब नेता प्रतिपक्ष हेमन्त सोरेन को उसने धमकी दे डाली है, और दोनों की धमकियों में एक बात की समानता है, कि दोनों महागठबंधन के नेताओं को चुनाव से दूर रहने तथा अपने प्रत्याशियों को अपने-अपने विधानसभा क्षेत्र से हटा देने की बात कह डाली है,

You May Like

Breaking News