जापान ने तोड़ा भारतीय महिला टीम का पेरिस जाने का सपना, मेजबान भारत 1-0 से पराजित, मैच का एकमात्र गोल कारन उराटा ने किया, भारत ओलंपिक क्वालीफायर टूर्नामेंट में चौथे स्थान पर रहा

भारतीय महिला हॉकी टीम एफआईएच हॉकी ओलंपिक क्वालीफायर रांची 2024 में तीसरे और चौथे स्थान के कड़े प्लेआफ मुकाबले में जापान से 0-1 से हार गई। इस हार के साथ भारतीय महिलाएं चौथे स्थान पर रहीं और 2024 पेरिस ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करने से चूक गईं। जापान ने मैच की शुरुआत में ही बढ़त बना ली। शुरुआती मिनटों के भीतर ही उसे दो पेनल्टी कॉर्नर मिले। हालांकि पहले वाले को गोल में तब्दील नहीं किया जा सका लेकिन कारन उराटा ने छठे मिनट में सुनिश्चित किया कि दूसरा प्रयास बेकार न जाए। इस तरह जापान ने पहले ही क्वार्टर में बढ़त बना ली।

भारत को कुछ पेनल्टी कॉर्नर मिले और दूसरे क्वार्टर में भारतीय खिलाड़ियों ने कुछ मौकों पर विपक्षी टीम के सर्कल में एंट्री भी की, लेकिन वे किसी भी अवसर को गोल में बदलने में असमर्थ रहीं। पहले हाफ में जापान ने 1-0 की बढ़त के साथ ब्रेक लिया। तीसरे क्वार्टर की शुरुआत में भारतीय टीम पेनल्टी कॉर्नर के जरिए बराबरी के करीब पहुंची, लेकिन जापान की गोलकीपर अकीओ तनाका ने सुनिश्चित किया कि गेंद नेट के पीछे न जाए। भारतीय खिलाड़ी जापान पर आक्रमण करती रही लेकिन जापानी डिफेंस ने टस से मस नहीं किया और अंतिम क्वार्टर तक अपनी मामूली बढ़त बरकरार रखी।

समय बीतने और ओलंपिक क्वालीफिकेशन का मौका करीब आने के साथ, भारतीय टीम को नया जोश आया। उसने अंतिम क्वार्टर में एक के बाद एक कई पेनल्टी कॉर्नर हासिल किए। भारतीय टीम बार-बार बराबरी के करीब आई लेकिन जापान के डिफेंडरों ने सुनिश्चित किया कि वे अपनी एक गोल की बढ़त को बरकरार रखेंगी और 1-0 से मैच जीतकर तीसरे स्थान पर रहेंगी और 2024 पेरिस ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करेंगी।

अंततः जापान अपने प्रयास में सफल रहा और भारतीय टीम को निराशा हाथ लगी। दूसरी ओर यूएसए को 2-0 से हराकर जर्मनी की टीम ने प्रतियोगिता प्रथम स्थान हासिल किया। इसके साथ ही यूएसए को दूसरे स्थान पर संतोष करना पड़ा, जापान तीसरे स्थान और भारत का स्थान चौथा रहा। जर्मनी की ओर से Jette Fleshchutz और Sonja Zimmermann ने एक-एक गोल किये।