एफआईएच महिला ओलंपिक क्वालीफायर: भारतीय महिला हॉकी टीम सेमीफाइनल में जर्मनी से शूट आउट में 3-4 से हारी

भारतीय टीम अब तीसरे-चौथे स्थान के मैच में शुक्रवार को जापान से भिड़ेगी, जहां उसके पास जीत दर्ज करके पेरिस ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने का मौका होगा। इस टूर्नामेंट की टॉप-3 टीमें पेरिस ओलंपिक का टिकट हासिल करेंगी। भारतीय महिला हॉकी टीम ने गुरुवार को यहां झारखंड स्थित रांची के मारंग गोमके जयपाल सिंह एस्ट्रोटर्फ हॉकी स्टेडियम में जारी एफआईएच हॉकी ओलंपिक क्वालीफायर-2024 के दूसरे सेमीफाइनल में जर्मनी के खिलाफ शानदार प्रदर्शन किया।

लेकिन इसके बावजूद उसे निर्धारित समय तक 2-2 की बराबरी के बाद शूट आउट में 3-4 से हार का सामना करना पड़ा। भारतीय टीम अब तीसरे-चौथे स्थान के मैच में शुक्रवार को जापान से भिड़ेगी, जहां उसके पास जीत दर्ज करके पेरिस ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने का मौका होगा। इस टूर्नामेंट की टॉप-3 टीमें पेरिस ओलंपिक का टिकट हासिल करेंगी। जापान को पहले सेमीफाइनल में अमेरिका से 1-2 से हार का सामना करना पड़ा।

ग्रुप चरण में लगातार दो जीत के बाद सेमीफाइनल में पहुंची भारतीय टीम ने जर्मनी के खिलाफ पहले क्वार्टर में सर्कल के अंदर कई आक्रमण किए और फिर 14वें मिनट में जाकर उसे पेनल्टी कॉर्नर मिल गया। दीपिका ने इस पेनल्टी कॉर्नर को गोल में तब्दील करके भारत के मुकाबले में बढ़त दिला दी। डिफेंस में शानदार प्रदर्शन और फिर जर्मनी को ज्यादा मौके नहीं देने के बाद भी भारतीय टीम अपनी बढ़त गंवा बैठी। चार्लोट स्टेपनहॉर्स्ट ने 26वें मिनट में गोल करके जर्मनी को बराबरी पर ला दिया। इसके बाद दोनों टीमें हाफ टाइम तक 1-1 की बराबरी पर थी। 

हाफ टाइम के बाद तीसरे क्वार्टर में दोनों टीमों ने बढ़त लेने की भरपूर कोशिश की। भारत और जर्मनी दोनों ने आक्रामक खेल दिखाना शुरू कर दिया। इसके बाद दोनों टीमों ने फाइनल के लिए क्वालीफाई करने और पेरिस ओलंपिक 2024 में जगह अपनी पक्की करने के लिए खुद को ड्राइविंग सीट पर रखा। लेकिन दोनों टीमें स्कोर करके बढ़त नहीं ले पा रही थी। इसके बाद दोनों टीमें अंतिम क्वार्टर में 1-1 के स्कोर के साथ पहुंची।

चौथे और अंतिम क्वार्टर की शुरुआत में दीपिका ने एक शानदार शॉट के साथ गोल करने का प्रयास किया, लेकिन जर्मनी की गोलकीपर ने भारतीय खिलाड़ी के इस हमले को विफल कर दिया। भारत और जर्मनी यहां से कई मौके बनाए। लेकिन सफलता आखिरकार जर्मनी को ही मिली। चार्लोट स्टेपनहॉर्स्ट ने 56वें मिनट में अपना और अपनी टीम का दूसरा मैदानी गोल करके जर्मनी को बढ़त दिला दी। मैच समाप्त होने में केवल तीन ही मिनट का समय बचा था। लेकिन तभी भारत की इशिका चौधरी ने 59वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर को गोल में तब्दील करके भारत को 2-2 की बराबरी पर ला दिया।

इसके बाद दोनों टीमें निर्धारित समय तक बढ़त नहीं ले पाई और मुकाबला शूट आउट में चला गया। शूट आउट में भारत के लिए संगीता, सोनिका और लालरेमसियामी ने गोल किए जबकि कप्तान सविता ने गोल के सामने कुछ शानदार बचाव किए। हालांकि जर्मनी ने धैर्य बनाए रखते हुए भारत को पेनल्टी शूटआउट में 4-3 से हराकर फाइनल में प्रवेश कर लिया।

भारत का सामना अब 19 जनवरी को शाम 16:30 बजे से जापान से होगा। इस जीत के बाद जर्मनी ने पेरिस ओलंपिक 2024 का टिकट पक्का कर लिया है जबकि हार के बाद भी भारत के पास अभी ओलंपिक टिकट पाने का एक और मौका है। इससे पहले, अमेरिका ने एक अन्य सेमीफाइनल में पूर्व एशियाई चैम्पियन जापान 2-1 से हराकर फाइनल में प्रवेश कर लिया और पेरिस ओलंपिक 2024 का का टिकट हासिल कर लिया। जापान के लिए अमिरू शिमाडा ने 38वें मिनट में गोल करके अपनी टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी थी।

लेकिन अमेरिका ने एशले होफमैन के 52वें मिनट में और एबिगेल टैमर के 55वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर पर किए गए गोल की मदद से मुकाबले को अपने नाम कर लिया। अमेरिका ने एफआईएच महिला ओलंपिक क्वालीफायर 2024 में अजेय रहते हुए पेरिस का टिकट कटाया है। वहीं, एक अन्य मैच में न्यूजीलैंड ने चेकिया को 2-0 से मात दी। इस जीत के बाद न्यूजीलैंड ने एफआईएच महिला ओलंपिक क्वालीफायर के पांचवें-छठे स्थान के क्वालीफिकेशन मैच में जगह बना ली। न्यूजीलैंड के लिए 57वें मिनट में कैटी डोआर ने और फिर सामंथा चाइल्ड ने 60वें मिनट में गोल दागे। पांचवें-छठे स्थान के लिए न्यूजीलैंड का सामना अब शुक्रवार को लिए इटली से होगा।

दूसरे मैच में इटली ने शूटआउट में चिली को हरा दिया। पांचवें से आठवें स्थान के इस क्वालिफिकेशन मैच में निर्धारित समय तक स्कोर दोनों टीमों के बीच स्कोर 2-2 से बराबरी पर था। इसके बाद शूटआउट में इटली के लिए मारिया इनाउदी और कार्टा ने गोल किए जबकि चिली के लिए एकमात्र गोल डोमेनिका अनानियास ने किया।