SC द्वारा राज्य सरकार को बकोरिया कांड पर मिले झटके के बाद, सरयू राय ने भी सरकार पर सवाल दागे

खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय ने एक बार फिर रघुवर सरकार पर हमला बोला है। इस बार उनका हमला बकोरिया कांड को लेकर इन दिनों सोशल साइटों तथा अन्य जगहों पर राज्य सरकार की हो रही जगहंसाई है। सरयू राय ने ट्वीट कर कहा है कि दरअसल राज्य सरकार ने कैबिनेट के भीतर या बाहर उनके सुझाव को माना ही नहीं और बकोरिया कांड की सीबीआइ जांच रुकवाने के लिए सर्वोच्च न्यायालय तक पहुंच गई

नतीजा सुप्रीम कोर्ट ने जो निर्णय दिया, उससे राज्य सरकार की सर्वत्र जगहंसाई हुई, राज्य सरकार के नीयत पर सवाल उठाये गये और बदनामी हुई सो अलग। सरयू राय का कहना है कि अब सवाल उठता है कि किस नादान की ये सलाह थी? कौन इसकी जिम्मेदारी लेगा? आखिर किसे सीबीआइ से भय है? कौन इस अपराध से बचना/बचाना चाहता है?

ज्ञातव्य है कि इस घटना का भुक्तभोगी जवाहर यादव ने झारखण्ड  हाईकोर्ट में एक याचिका डालकर बकोरिया कांड की सीबीआइ जांच कराने की मांग की थी, जिस पर झारखण्ड हाई कोर्ट ने पिछले साल अक्टूबर महीने में बकोरिया कांड की जांच सीबीआइ से कराने का आदेश दिया, जिसके खिलाफ रघुवर सरकार एसएलपी याचिका सुप्रीम कोर्ट में दायर कर दी, जिस पर दो दिन पूर्व सर्वोच्च न्यायालय ने राज्य सरकार की याचिका खारिज कर दी, तथा झारखण्ड हाई कोर्ट के सीबीआइ जांच के फैसले को सही ठहरा दिया।