भ्रष्ट CO को ब्लैकमेलिंग कर पैसे कमाना है, यहां एक्यूज होकर जब वो CM का इंटरव्यू ले रहा है तो हम ये भी न करें…

शर्म करिये। रांची का एक चैनल, न्यूज 11, भ्रष्ट सीओ को पर्दाफाश करने के बजाय, उनसे सौदेबाजी कर रहा है, वो उनसे पैसे वसूल रहा है और जैसे ही पैसे वसूल हो जा रहे हैं, उसके खिलाफ उसके चैनल पर चल रही न्यूज रोक दी जाती है। यही नहीं कुछ-कुछ सीओ के भ्रष्ट कार्यों को दिखाया ही नहीं जा रहा, क्योंकि उनके साथ सौदेबाजी जो हो चुकी है, ये हम नहीं कह रहे, खुद न्यूज 11 में काम करनेवाले संवाददाता-कर्मी आपसी बातचीत में इस बात को पुष्ट कर रहे हैं।

Read more

न्यूज 11 चैनल के एक संवाददाता का बयान – मैं लंगा-लूच्चा हूं, एक SDO, दो CO को खा चुका हूं, अब बारी…

ये नया जमाना है। इस जमाने में एक चैनल का संवाददाता गर्व से कहता है कि वह लंगा-लूच्चा है, उसे खोने को क्या है, पर पाने को बहुत है। वह जानता है कि पूरी व्यवस्था घूसखोरों की है, सरकार में जो शामिल हैं, या जो सरकार चलाते हैं, वे लोग खुद उसके मालिक की चरण वंदना करते हैं, तभी तो वह गर्व से यह भी कहता है कि वह एक एसडीओ को खा चुका है, दो सीओ को खा चुका है, और एक दो-दिन के अंदर, एक और को खाने जा रहा हैं और अगर वो बचना चाहता है तो जो कमा रहा हैं, उसका एक हिस्सा उसे भी दें।

Read more

पहले सन्मार्ग प्रबंधन के दबाव में आकर हुए विवश, अब जब नवल सिंह को मिली सफलता तब बदले मिजाज

सन्मार्ग में कार्य करनेवाले वे संवाददाता व छायाकार, जो सन्मार्ग प्रबंधन के आगे कभी विवश हुए थे, अब उन्हें भी मिलेगा भविष्य निधि तथा अन्य मदों का लाभ, क्योंकि क्षेत्रीय भविष्य निधि आयुक्त विकास आनन्द ने उन सभी पर कृपा दृष्टि बरसा दी है। विद्रोही24 के पास ऐसे दस्तावेज है, जो बताने के लिए काफी है, कि जब सन्मार्ग प्रबंधन ने आंदोलन कर रहे अपने कर्मियों को निष्कासन का डंडा दिखाया,

Read more

तो क्या पीटीआइ के संवाददाता ने रांची और वाराणसी दोनों जगहों पर मताधिकार का प्रयोग किया?

नीचे दिये गये इन फोटो को ध्यान से देखिये, मीडिया के लोगों ने इन फोटो को लिया और अपने अखबारों में स्थान दिया। क्रमानुसार ये फोटो हैं पहला – प्रकाश सिंह बादल (भटिंडा), दूसरा – अमरिन्दर सिंह (पटियाला), तीसरा – नवजोत सिंह सिद्धु(अमृतसर), चौथा – शत्रुघ्न सिन्हा (पटना साहिब), पांचवां – योगी आदित्यनाथ (गोरखपुर),छठा – हरसिमरत कौर (भटिंडा) और सातवां – मुरली मनोहर जोशी (वाराणसी) का।

Read more

प्यारे दर्शकों, हमारे चैनल के छोटे रुपहलें पर्दें पर CM रघुवर का एक्सक्लूसिव इंटरव्यू देखना न भूलें

जब मैं छोटा था, तब उस वक्त मनोरंजन के साधन के रुप में ले-देकर, केवल सिनेमा था और इससे कुछ अलग हुआ तो सर्कस, समाचार जानने के लिए लोग अखबार व रेडियो का न्यूज सुना करते थे। कहीं कोई फेक अथवा किसी के महिमामंडन की खबर या पेड न्यूज तो दूर-दूर तक न दिखाई देता था और न सुनाई पड़ता था, अगर किसी जनाब को लेकर उनके गलत कारनामों को रेखांकित करती खबर छप गई तो समझिये

Read more

झारखण्ड में CM के घर दिवाली के दिन पसरे सन्नाटे और अर्जुन मुंडा की कातिल अदा की चर्चा जोरों पर

जरा इस फोटो को ध्यान से देखिये, ये फोटो दिवाली के दिन का है, जब मुख्यमंत्री रघुवर दास, पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा के घर, दिवाली की शुभकामनाएं देने पहुंचे। दिवाली की शुभकामनाएं देने के बाद जनाब कुछ समय के लिए अर्जुन मुंडा के पास बैठे और फिर शुरु हो गई गुफ्तगूं, तभी अर्जुन मुंडा के चाहनेवालों ने ये फोटो खीच ली, फोटो तो रघुवर दास के लोगों ने भी खींची, और सीएम के सोशल साइट पर इस फोटो को डाल दिया,

Read more

याद रखें, उनके लिए भारतीय स्वतंत्रता दिवस कम, विज्ञापनोत्सव ज्यादा हैं…

सच पूछिये, तो अपने देश में 15 अगस्त का दिन, स्वतंत्रता दिवस मनाने का दिन न होकर विज्ञापनोत्सव का दिन होता है। बेकार की बातों के बीच, अखबारों और चैनलों में देश को चूहे की तरह कुतर रहे नेताओं-पत्रकारों-अधिकारियों-पुलिसकर्मियों-ठेकेदारों-अभियंताओं-अधिवक्ताओं के आलेख और अनाप-शनाप विज्ञापनों की ठेलम-ठेल इस दिन रहती है।

Read more

केवल सीबीआई ही नहीं, पत्रकार भी स्पेशल तोता होता हैं…

इधर जब सीबीआई पर तोता होने का आरोप लगा तो तोते जैसे पक्षी को भी गुमान होने लगा कि उसकी तुलना अब किसी भी अन्य पक्षियों से नहीं की जा सकती, क्योंकि वह खास है। वह अब भारत के हर वर्ग और हर विभाग में अपना खास स्थान रखता है। नेता तो अपने हर प्रिय को तोता ही कहता है,

Read more