“तुम मुझे केवल विज्ञापन की चाट चटाते रहो, मैं तुम्हें अपना महबूब मान लूंगा” – रांची के अखबार

तुम मुझे केवल विज्ञापन की चाट चटाते रहो, मैं तुम्हें अपना महबूब मान लूंगा, तुम्हें सत्ता में लाने के लिए वो हर प्रयास करुंगा, जैसे एक पति की लंबी जीवन के लिए, एक पत्नी तीज व्रत रखती है।” “ओ मेरे महबूब, याद रखोगे न, केवल विज्ञापन की ही तो बात हैं, देखो न मैं तो तुम्हारे लिए अपना संपादकीय पेज तक को आपके कदमों में रख दिया,और क्या करुं, आपके लिए तो हमने जनता को भी कचरे में फेंकने का संकल्प कर लिया,

Read more