रामजन्मभूमि मंदिर के सूत्रधार आडवाणी, जिन्होंने जीते-जी अपने आंदोलन को सफल होते हुए देखा, आरोपों से मुक्त भी हुए

जहां तक मुझे लगता है कि भारत में तीन ही राष्ट्रीय स्तर के नेता हुए, जिन्होंने बाद में अंतरराष्ट्रीय स्तर तक पहचान बनाई, जिन्होंने स्वयं ही आंदोलन छेड़ा और अपने जीते जी उस आंदोलन को सफल होते हुए भी देखा, जिनमें प्रथम महात्मा गांधी थे, जिनके नेतृत्व में भारत 15 अगस्त 1947 को स्वतंत्र हुआ, दूसरे लोकनायक जयप्रकाश नारायण हुए, जिन्होंने 1975 में इन्दिरा गांधी द्वारा शुरु किये गये आपात काल की तीखी आलोचना की और संपूर्ण विपक्ष को एक साथ लेकर 1977 में अपने जीते जी इन्दिरा गांधी को सत्ता …

Read more

अरे भाई ध्यान देना, कही राहुल गांधी ने भाजपा और नरेन्द्र मोदी के प्रचार का जिम्मा तो नहीं संभाल लिया!

हमें तो साफ लग रहा है कि कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने भाजपा और नरेन्द्र मोदी के प्रचार का जिम्मा संभाल लिया है, क्योंकि जिस प्रकार से उनका बयान आ रहा है, वह बयान बता रहा है कि वे आपे से बाहर हो रहे हैं और क्रोध में आकर, वह सब अनाप-शनाप बक दे रहे हैं, जिसकी कल्पना कम से कम भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष से तो नहीं की जा सकती।

Read more

कमाल हो गया, आडवाणी के लिए वे भी रो रहे हैं, जो कल तक उन्हें बिना गालियां दिये सोते तक नहीं थे

भाजपा या वर्तमान राजनीतिक दलों में किसकी हिम्मत है कि स्वयं को लालकृष्ण आडवाणी के सामने खड़ा होने का दुस्साहस

Read more

आई डोन्ट लाइक बीजेपी, आई कान्ट गिभ द वोट इन फेवर ऑफ बीजेपी

सन् 1974, सिपाही भगत मिड्ल स्कूल। यह स्कूल पटना जिले के दानापुर अनुमंडल में सुलतानपुर और नयाटोला मुहल्ले के मध्य में स्थित है। इसी स्कूल में, मैं पढ़ा करता था। मेरे बहुत सारे दोस्त थे। सभी मस्ती में रहा करते, एक दूसरे को सुख-दुख में ऐसे डूबे रहते कि क्या कहने। एक दिन मेरे दोस्त सुनील ने कहा, कि स्कूल से छुट्टी मिलते ही, हमलोग लालकोठी स्कूल चलेंगे, शाखा में, जहां बहुत आनन्द आता है। हमने सोचा – यह शाखा क्या होता है?  

Read more

औकात से ज्यादा मिलने पर हर नेता अक-बका जाता है, जैसे यशवंत सिन्हा

जिनकी कोई औकात नहीं, और उन्हें जब आप औकात से ज्यादा दे देंगे, तो वे आपको ही काटने को दौड़ेंगे। ये लोकोक्ति भाजपा नेता यशवंत सिन्हा पर फिट बैठती है। जरा यशवंत से पूछिये जब केन्द्र में पहली बार कांग्रेस के सहयोग से चंद्रशेखर प्रधानमंत्री बने और चार महीने के बाद ही जब देश में लोकसभा का चुनाव हुआ और उस समय जब वे पटना संसदीय सीट से चुनाव लड़ रहे थे, तो उनकी हालत क्या हुई थी?

Read more

भारतीय जनता पार्टी की प्रदेशस्तरीय कार्यसमिति की बैठक में नहीं मिला महिलाओं को सम्मान

भारतीय जनता पार्टी संसदीय व्यवस्था में बार-बार महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण देने की बात करती है, पर सच मानिये तो वह खुद भी नहीं चाहती कि महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण प्राप्त हो, क्योंकि अगर ऐसा हुआ तो फिर हर जगह महिला ही महिला दीखेंगी, पुरुषों का वर्चस्व ही समाप्त हो जायेगा। जरा देखिये रांची के हरमू में स्थित स्वागतम सामुदायिक भवन में क्या हो रहा है?

Read more

इस रघुवर सरकार को उखाड़ फेकिंये, नहीं तो यह सरकार आपका जीना दूभर कर देगी…

नागा बाबा खटाल के अतिक्रमणकारी दुखी है, दुखी इस बात को लेकर है कि पिछले लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनाव के दौरान, उन्होंने खुब कमल का बटन दबाया था। भाजपा के प्रत्याशी और कार्यकर्ता  भी उत्साहित थे, कि उन्हें इस इलाके से खुब वोट मिले, जबकि इस्लामनगर से भाजपा के उम्मीदवार एक-एक वोट के लिए तरस गये थे पर नागा बाबा खटाल के अतिक्रमणकारियों को क्या मालूम कि जिन्हें वे वोट दे रहे है, वहीं उनके पीठ पर छूरा घोपेंगे।

Read more