केन्द्र/राज्य में जब-जब कांग्रेस, झामुमो व राजद की सरकार बनी, तब-तब इनके नेताओं ने देश/राज्य को लूटने का काम किया – बाबूलाल

अगर राज्य में भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाना है, तो सबसे पहले सत्ता के शीर्ष पर बैठे भ्रष्टाचारी लोगों पर अंकुश

Read more

अखबारों भूलकर भी सच मत लिखो, नहीं तो जान लो, यहां जब जज सुरक्षित नहीं, तो तुम किस खेत की मूली हो, चुपचाप हेमन्त कीर्तन गाओ, ज्यादा जनता को ज्ञान देने की जरुरत नहीं

“तुम सच लिखोगे, उस सच से मेरा नुकसान होगा और फिर मैं तुम्हे अपनी सत्ता का धौंस दिखाकर तुम्हारा विज्ञापन

Read more

याद रखियेगा हेमन्त बाबू, बड़े-बड़े महानगरों में स्टेकहोल्डर्स मीट करा लेने से निवेशक नहीं आते

बड़े-बड़े महानगरों के बड़े-बड़े होटलों में स्टेकहोलर्डस मीट करा लेने से किसी राज्य में औद्योगीकरण का विस्तार नहीं होता हेमन्त बाबू। इस बात को, आपको खासकर गांठ बांध लेना चाहिए, क्योंकि आप उस राज्य से आते है, जहां की जनता बहुत ही निर्धन है, और उसकी पहली मांग औद्योगीकरण नहीं है, और न ही आपको औद्योगीकरण का जाल फैलाने के लिए राज्य की गरीब, शोषित, उपेक्षित जनता ने सत्ता सौंपा है।

Read more

ममता बनर्जी से सीधा सा सवाल, क्या झारखण्ड विधानसभा चुनाव में हेमन्त सोरेन ने आपको अपना उम्मीदवार उतारने से मना किया था?

झारखण्ड के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने बंगाल के झारग्राम में राजनीतिक कार्यक्रम क्या रख दिया, वहां की जनता को क्या संबोधित कर दिया, प.बंगाल की मुख्यमंत्री झारखण्ड के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन पर आग-बबूला हो गई और अपने स्वभावानुसार हेमन्त सोरेन और झारखण्डियों के खिलाफ पता नहीं क्या-क्या बोल दिया? ऐसे भी हमारे देश के नेताओं की आदत है, किसी राज्य की जनता ने उन्हें सत्ता क्या सौंप दिया, उन्हें लगता है कि उस राज्य की जनता ने एक तरह से सदा के लिए उस राज्य में शासन करने का लाइसेंस या निबंधन कर डाला।

Read more

शर्मनाक घटना: भारत- चीन सीमा पर तनाव, हेमन्त सरकार के एक मंत्री ने कहा नहीं भेजेंगे बार्डर पर झारखण्डी मजदूर

अगर कोई सरकार या नेता या दल यह कहता है कि वह अपने राज्य में आनेवाले सारे प्रवासी मजदूरों को रोजगार उपलब्ध करा देगा, तो समझ लीजिये या तो वह भगवान है या सबसे बड़ा झूठा अथवा मक्कार। दुनिया के किसी देश में ऐसा संभव नहीं कि सरकार हर को रोजगार उपलब्ध करा दें, खासकर उस देश में जहां जनसंख्या सड़कों पर नजर आती हैं या जहां की सरकार जनसंख्या को ज्यादा से ज्यादा वोट पाने का जरिया समझती है तथा इसे बढ़ाने के लिए अपनी सीमाएं तक खोल देती हो,

Read more

देश व राज्य में मजदूरों की दुर्दशा देख वामदलों ने पूरे राज्य भर में मनाया शोक व धिक्कार दिवस, केन्द्र/राज्य को चेताया

प्रवासी मजदूरों की घर वापसी के दौरान महाराष्ट्र के औरंगाबाद में हुई ट्रेन दुर्घटना में श्रमिकों की मौत, विशाखापट्टनम गैसकांड में दर्जनों मजदूरों की मौत, राज्य सरकारों के द्वारा मजदूरों के साथ की जा रही अमानवीय यातना के खिलाफ वाम दलों ने पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत आज राज्य भर में शोक एवं धिक्कार दिवस मनाया। कार्यकर्ताओं ने काली पट्टी, काले झंडे और तख्तियां लेकर धरना-प्रदर्शन आयोजित किया।

Read more