नहीं पढ़ेंगे सड़क पर नमाज, यह आदत इस्लामी तालीम के खिलाफ, सड़क पर सब का हक

जब कोई मुसलमान कहे कि वो सड़क पर नमाज नहीं पढ़ेगा, यह आदत इस्लामी तालीम के खिलाफ है। सड़क पर सभी का हक हैं, तो एक सामान्य व्यक्ति आश्चर्य में पड़ जायेगा, क्योंकि वह तो ऐसा वर्षों से देखता आ रहा है, भला ये हृदय परिवर्तन कैसे हो गया? अगर कोई घोर सांप्रदायिक व्यक्तियों से इस संबंध में सवाल करें तो दोनों पक्षों के लोगों का जवाब अलग-अलग आ सकता है, पर एक अच्छे इन्सान से पूछा जाय कि उसे यह सोच कैसा लगता है,

Read more