देश को ‘कबीर’ नहीं, ‘कबीर सिंह’ जैसा युवा चाहिए, जो लव और सेक्स के माध्यम से देश को नई ऊंचाई प्रदान करें

ये भारत नहीं, न्यू इंडिया है जनाब, क्योंकि अब देश को “कबीर” नहीं “कबीर सिंह” की जरुरत हैं। सचमुच आजकल कबीर सिंह की धूम है, ये कबीर सिंह कोई व्यक्ति विशेष नहीं, बल्कि एक फिल्म के किरदार है, जो आजकल पूरे देश में धूम मचाये हुए हैं, जिसे देखों इनकी चर्चा कर रहा है, कह रहा है वाह क्या फिल्म है और क्या कबीर सिंह है, गजब ढा दिया है इन्होंने, लोग खूब फिल्म देख रहे हैं, फिल्म बिजनेस भी अच्छा कर रही है,

Read more

निर्लज्ज सरकार और उनके अधिकारियों से लड़िये, संघर्ष का रास्ता अपनाइये, पर आत्महत्या मत करिये

…और सरकार, सरकार किसी की भी हो, उन्हें शर्म आनी चाहिए, जिस राज्य या देश में किसान आत्महत्या करने पर मजबूर हो जाये, उसे चुल्लू भर पानी में डूब मरना चाहिए। अपनी ब्रांडिंग के लिए करोड़ों खर्च, चुनाव जीतने के लिए करोड़ों-अरबों खर्च और किसानों की सहायता और उनकी समृद्धि के लिए बनने वाले बजट की राशि कौन हड़प ले जा रहा हैं?

Read more