लाहिड़ी महाशय के आविर्भाव दिवस (30 सितम्बर) पर विशेष, ईश्वर साक्षात्कार आत्मप्रयास से संभव, न कि धार्मिक विश्वास या अन्य की इच्छा-अनिच्छा पर

“ईश्वर साक्षात्कार आत्मप्रयास से संभव है, वह किसी धार्मिक विश्वास या किसी ब्रह्माण्ड नायक की मनमानी इच्छा-अनिच्छा पर निर्भर नहीं

Read more

अगर जीवन संग्राम में विजयी होना है तो परमहंस योगानन्द जी की कालजयी रचना “ईश्वर-अर्जुन संवाद” से स्वयं को जोड़े – स्वामी ईश्वरानन्द

श्रीमद्भभगवद्गीता पर तो देश और विदेश के कई संतों/महानुभावों/आध्यात्मिक पुरुषों ने अपने काल खण्ड में उस काल खण्ड के अनुरुप

Read more

तनाव यानी मन की ऐसी अवस्था जो चिन्ताओं को जन्म देती हैं, हमारे संपूर्ण जीवन को प्रभावित कर देती हैं, इससे बचें – स्वामी सदानन्द

तनाव दरअसल मन की ऐसी अवस्था है, जो चिन्ताओं को जन्म देती हैं। इन चिन्ताओं पर जब हम विजय नहीं

Read more

क्रिया योग दीक्षा समारोह में स्वामी शुद्धानन्द ने कहा ईश्वर को पाने का सरल मार्ग है क्रिया योग, आप धन्य हैं, जो इससे जुड़े

क्रिया योग की दीक्षा ले रहे योगदा के भक्तों को संबोधित करते हुए योगदा सत्संग मठ के वरीय संन्यासी स्वामी

Read more

हम दरअसल प्रकाश और प्रेम ही हैं, स्थूल काय शरीर नहीं, यही समझने की जरुरत – ब्रह्मचारी सच्चिदानन्द

रांची के योगदा सत्संग मठ स्थित ध्यान केन्द्र में साप्ताहिक सत्संग को संबोधित करते हुए योगदा सत्संग से जुड़े ब्रह्मचारी

Read more

जीवन में समस्याएं परीक्षाओं की तरह हैं, इससे मुक्ति पाने का सरल उपाय गुरु के प्रति शरणागत हो जाइये – निर्मलानन्द

मेरे प्यारे बच्चों, हमेशा की तरह आज भी मैं रांची के योगदा सत्संग मठ गया था। चूंकि तुम जानते हो

Read more

महावतार बाबाजी स्मृति दिवस पर विशेष – आधुनिक विश्व को विज्ञान सम्मत क्रिया प्रविधि देने वाले अद्भुत चमत्कारिक भारतीय संत

सद्गुरु उस कुशल चित्रकार की तरह होता है जो आड़ी तिरछी रेखाएँ खींच, अंततः एक सुंदर आकृति गढ़ सबको चौंका

Read more

रांची स्थित योगदा सत्संग मठ से गुरु पूर्णिमा के सुअवसर पर पूरे वायुमंडल में गूंजा “गुरु शरणम्, गुरु शरणम्, गुरु शरणम् … … …”

आज गुरु पूर्णिमा है। गुरु पूर्णिमा के सुअवसर पर हम सपरिवार रांची स्थित योगदा सत्संग मठ पहुंचे। ऐसे भी गुरु

Read more

विश्व योग दिवस की पूर्व संध्या पर विशेष – परमहंस योगानन्द एक ऐसे संदेशवाहक जो विश्व के लिए क्रियायोग लेकर आए

वर्तमान युग में आधुनिक संसार योग विज्ञान के लाभों को अधिकाधिक स्वीकार कर रहा है। प्रत्येक वर्ष 21 जून को

Read more

10 मई को उनके जन्मदिवस पर विशेषः ग्रहणशील शिष्यों को ईश्वर-प्राप्त संत के रूप में रूपांतरित करने की शक्ति विद्यमान थी स्वामी युक्तेश्वर जी में

भारत की भूमि पर अवतरित महान् गुरुओं की चर्चा हो तो स्वयं ही मस्तक श्रद्धा से झुक जाता है। स्वामी

Read more