देश के कई भागों में दंगाइयों ने श्रीरामनवमी की शोभायात्रा पर पत्थर बरसाएं, एक की मौत, कई घायल, मध्यप्रदेश में दंगाइयों के घरों पर चले बुलडोजर

वो कौन लोग हैं, जो श्रीरामनवमी की शोभायात्रा में शामिल लोगों पर पत्थरबाजी करते हैं। जिन्हें श्रीराम के नाम से

Read more

शर्म करो, हिंदपीढ़ी वालों तुम्हारे कारण पूरे रांची की इज्जत की फलूदा निकल रही है, पर एक तुम हो, जैसे लगता है कि न सुधरने की कसम खा रखी है

शर्म करो, हिंदपीढ़ी वालों तुम्हारे कारण पूरे रांची की इज्जत की फलूदा निकल रही है, पर एक तुम हो, जैसे लगता है कि न सुधरने की कसम खा रखी है। इस लॉक डाउन में हिन्दुओं का प्रमुख त्याहोर “रामनवमी” बीत गया। आदिवासियों का त्यौहार “सरहुल” शांति से बीत गया, पर ऐसा क्या है कि “रमजान” का महीना शांति से न निकले। ये रोज-रोज की किचकिच और तुम्हारे इलाके की सुर्खियां बनती अखबारों की फ्रंटलाइन, क्या इससे तुम्हें शर्म नहीं आती या तुमने कसम खा रखी है कि चाहे जो हो जाये, हम वो करेंगे,

Read more

श्रीवंशीनगर में मूर्ति विसर्जन के दौरान जमकर बवाल, पत्थरबाजी, लाठीचार्ज, दो दर्जन उपद्रवी गिरफ्तार

गढ़वा के श्रीवंशीनगर थाने के निकट प्रतिमा विसर्जन को लेकर पुलिस और ग्रामीणों के बीच जमकर बवाल हुआ। इसी बवाल के क्रम में प्रतिमा विसर्जन के साथ चल रहे ग्रामीणों ने पुलिस पर पत्थर फेंके। इस पत्थरबाजी में थाना प्रभारी समेत कई पुलिसकर्मियों को चोट पहुंची, जिसके बाद ग्रामीणों द्वारा किये जा रहे बवाल को काबू में करने के लिए पुलिस ने लाठी चार्ज किया तथा भीड़ में शामिल करीब दो दर्जन उपद्रवियों को गिरफ्तार कर लिया।

Read more

जिंदगी मौत न बन जाये जमशेदपुरवालों, पत्थरबाजों का टेटूआं पकड़िएं और कानून के तहत उन्हें सजा दिलवाइये

पूरे झारखण्ड में शांतिपूर्वक चुनाव संपन्न हो रहे हैं, खुद जमशेदपुर में भी शांतिपूर्वक चुनाव संपन्न हो रहे हैं, पर जमशेदपुर के छोटे से इलाके जुगसलाई में कुछ मुट्ठी भर, असामाजिक तत्वों ने ऐसी आग फैलाई कि जमशेदपुर पर एक दाग लग गया, बड़े शर्म की बात है कि एक मतदान केन्द्र पर पोलिंग एजेन्टों के बीच हुई कहा-सुनी, बाहर आकर दो गुटों में पत्थरबाजी तक पहुंच गई, दरअसल इतने पत्थर कहां से आ जाते हैं,

Read more

अपनी ही सरकार के खिलाफ नगर विकास मंत्री सीपी सिंह कोतवाली थाने में धरने पर

राज्य में सरकार किसकी, भाजपा की और भाजपा के ही मंत्री अपनी ही सरकार के खिलाफ कोतवाली धरने पर बैठ जाये तो इसे क्या कहेंगे? इसका मतलब है कि यहां सरकार नाम की कोई चीज ही नहीं, ये कोई पहली बार घटना नहीं घटी है, समय-समय पर सरकार की कई नीतियों से खफा, राज्य के कई मंत्री राज्य सरकार की कार्यशैली पर अंगूली उठा चुके है।

Read more