प्रेम प्रकाश को हिरासत में लेने के बाद ईडी पूर्व सीएम रघुवर, उनके मुख्य सचिव, ओएसडी, प्रेस-सह-राजनीतिक सलाहकार से भी पूछताछ के साथ-साथ पिछली प्रेम के वाराणसी वाले ठिकाना से मिले अचल संपत्ति में निवेश के कागजातों को भी जांचे – सरयू

सरयू राय की लगातार पांच ट्विट ने झारखण्ड की राजनीति में भूचाल ला दिया है। पूर्व मंत्री व जमशेदपुर पूर्व

Read more

CM बताएं कि केन्द्र ने 50 हजार करोड़ में से कितना निवेश किया झारखण्ड में?

मोमेंटम झारखण्ड के एक साल पूरे होने जा रहे हैं, ऐसे में इस पर नजर दौड़ना जरुरी है, कि जिस मोमेंटम झारखण्ड के नाम पर, उसके प्रचार-प्रसार पर करोड़ों फूंक डाले गये, भारी-भरकम हाथी को कलरफूल बनाकर आकाश में उड़ाया गया था, वह हाथी उड़ा भी या धड़ाम से गिर गया। आखिर मोमेंटम झारखण्ड के दौरान सीएम रघुवर दास ने क्या कहा था? जरा ध्यान दीजिये…

Read more

CM रघुवर को कौन समझाये? मेला लगाने से निवेश नहीं होता, माहौल बनाने से निवेश होता हैं…

कमाल है, रघुवर सरकार के इस मंत्री ने खुलकर राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास को आगाह किया कि माहौल को बेहतर बनाइये, पर कनफूंकवों से घिरे मुख्यमंत्री रघुवर दास को इससे अलग, केवल मेला लगाने में ही आनन्द लग रहा है, जिसका परिणाम हैं कि न तो राज्य में निवेश हो रहा और न ही रोजगार के अवसर उपलब्ध हो रहे, पर इस मेले के आयोजन से, मेला लगानेवालों का कारोबार खुब फल-फूल रहा है, जिससे सीएम की झूठी वाहवाही तो हो रही है

Read more

एकता दिवस के बहाने, असल में सरदार पटेल के नाम पर इन्दिरा को मिटाने की कोशिश हो रही हैं

सच पूछिये तो सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती मनाने का कार्यक्रम तो सिर्फ एक बहाना है, असली मकसद तो इनके नाम पर इंदिरा गांधी के अस्तित्व को मिटा देना है। क्या भाजपा सरकार द्वारा किये जा रहे इस हथकंडे से इन्दिरा गांधी को लोग भूल जायेंगे। जनता भूल जायेंगी इन्दिरा गांधी के उस त्याग व बलिदान को जो उन्होंने देश की आजादी तथा आजादी के बाद भारत को सशक्त करने में लगाया।

Read more

लौट के बुद्धु घर को आये…

जनाब झारखण्ड के शहंशाह रघुवर दास चेक और जापान की अपनी साप्ताहिक विदेश यात्रा पूरी कर रांची लौट आये है। शहंशाह के चहेते अमित खरे, सुनील बर्णवाल, राजबाला वर्मा और अन्य अधिकारी भी रांची लौट कर, अपनी थकान मिटाने में लगे हैं। भारतीय परंपराओं में जैसे कोई व्यक्ति तीर्थयात्रा करके लौटता हैं तो अपने घर में भंडारा कराकर, ब्राह्मणों को यथोचित दान-दक्षिणा देकर, अपनी तीर्थयात्रा का समापन करता है।

Read more

कहीं मुख्यमंत्री रघुवर दास से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नाराज तो नहीं!

प्रधानमंत्री के चेहरे पर तमतमाहट और आक्रोश के चिह्न साफ दिखाई पड़ रहे हैं। इस फोटो को देख सामान्य व्यक्ति भी अंदाजा लगा सकता है कि मुख्यमंत्री रघुवर दास ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की विश्वसनीयता खो दी है, और इस विश्वसनीयता को पुनः बहाल कर पाना आनेवाले समय में उनके लिए संभव नहीं।

Read more