पुत्र-मोह जो न करा दे, कुछ माह पूर्व तक हर बात में मोदी को कोसनेवाले यशवन्त ने किया मौन व्रत धारण

कहा जाता है कि आप सबसे जीत सकते हैं, पर अपनी औलाद से नहीं। चुनावी घोषणा के पूर्व तक हर मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को कोसनेवाले, हजारीबाग के पूर्व सांसद एवं कई बार केन्द्रीय मंत्री पद का शोभा बढ़ानेवाले, तथा पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी सरकार के इमेज को बुरी तरह प्रभावित कर देनेवाले यशवन्त सिन्हा इन दिनों राजनीतिक मौन व्रत धारण किये हुए हैं।

Read more

वो ढोल पीटकर भी कुछ नहीं कर सकें और सुनीता ने वह कर दिखाया, जिसका अंदेशा ही न था

ये तीन उदाहरण बताते है कि जो लोग करना जानते है, वे ढोल नहीं पीटते, वे करके दिखा देते हैं, और जो ढोल पीटते हैं, उनका मकसद सिर्फ ढोल पीटना होता है, करना कुछ नहीं होता है। जरा देखिये एक पत्रकारों का समूह रांची से चला था, राष्ट्रीय ध्वज फहराने, जानते है कहां, कश्मीर के लाल चौक पर, नारा क्या लगा रहा था – जहां हमारा लहू गिरा है, वो कश्मीर हमारा है, पर इनलोगों से पूछिये कि क्या आपलोगों ने कश्मीर के लाल चौक पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया।

Read more

इस रघुवर सरकार को उखाड़ फेकिंये, नहीं तो यह सरकार आपका जीना दूभर कर देगी…

नागा बाबा खटाल के अतिक्रमणकारी दुखी है, दुखी इस बात को लेकर है कि पिछले लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनाव के दौरान, उन्होंने खुब कमल का बटन दबाया था। भाजपा के प्रत्याशी और कार्यकर्ता  भी उत्साहित थे, कि उन्हें इस इलाके से खुब वोट मिले, जबकि इस्लामनगर से भाजपा के उम्मीदवार एक-एक वोट के लिए तरस गये थे पर नागा बाबा खटाल के अतिक्रमणकारियों को क्या मालूम कि जिन्हें वे वोट दे रहे है, वहीं उनके पीठ पर छूरा घोपेंगे।

Read more