न अपना प्रिंटिंग प्रेस, न रिपोर्टर, न कोई छायाकार और न ऑफिस स्टाफ फिर भी लाखों-करोड़ों में खेल रहे रांची के कई फंटूस पत्रकार

जी हां, यह शत प्रतिशत सत्य है। रांची में ऐसे कई फंटूस पत्रकार हैं, जिनके पास न तो कोई प्रिंटिंग

Read more

पहले सन्मार्ग प्रबंधन के दबाव में आकर हुए विवश, अब जब नवल सिंह को मिली सफलता तब बदले मिजाज

सन्मार्ग में कार्य करनेवाले वे संवाददाता व छायाकार, जो सन्मार्ग प्रबंधन के आगे कभी विवश हुए थे, अब उन्हें भी मिलेगा भविष्य निधि तथा अन्य मदों का लाभ, क्योंकि क्षेत्रीय भविष्य निधि आयुक्त विकास आनन्द ने उन सभी पर कृपा दृष्टि बरसा दी है। विद्रोही24 के पास ऐसे दस्तावेज है, जो बताने के लिए काफी है, कि जब सन्मार्ग प्रबंधन ने आंदोलन कर रहे अपने कर्मियों को निष्कासन का डंडा दिखाया,

Read more