कहीं आपका बच्चा आपके संस्कार और चरित्र को छोड़ “मानव बम” बनने की तैयारी तो नहीं कर रहा

सुशील बाबू बड़े ही शांतिप्रिय हैं, वे मुहल्ले के सर्वाधिक संभ्रांत व्यक्ति है। उनके दो बच्चे अभिनव और आकाश भी सुंस्कारित है। मुहल्ले के सारे लोग सुशील बाबू के दोनों बेटे की बड़ाई करते नहीं थकते। जब मुहल्ले के लोग अपने बच्चों को समझाते तो ये कहना नहीं भूलते कि देखो इसी मुहल्ले में अभिनव और आकाश हैं, जो कितने सुसंस्कारित और पढ़ने में तेज हैं, हाल ही में मैट्रिक की परीक्षा में दोनों ने 96 प्रतिशत नंबर लाये

Read more

काश, CM रघुवर का ये संस्कार बोल-चाल में भी दीखता, तो झारखण्ड का सम्मान भी बढ़ता…

बहुत दिनों के बाद कुछ अच्छी फोटो मुख्यमंत्री रघुवर दास के सोशल साइट पर दिखी है, मुख्यमंत्री रघुवर दास झारखण्ड में दिशोम गुरु के नाम से विख्यात शिबू सोरेन का पांव छू रहे हैं, बगल में नेता प्रतिपक्ष हेमन्त सोरेन से कुछ गुफ्तगू भी कर रहे हैं, तो कही एक साथ भोजन भी कर रहे हैं। सचमुच लोकतंत्र में इस प्रकार की फोटो हमारी देश की लोकतांत्रिक परम्पराओं में चार-चांद लगा देती है, पर वो कहा जाता हैं न…

Read more

जिस-जिसने अपने चरित्र को संभाल कर रखा, वे आज भी आदरणीय हैं और जिसने चरित्र को…

तुम जो चाहते हो, वह प्राप्त होता है, पर ये तुम्हें निश्चय करना हैं कि वह चीज जो तुम प्राप्त करना चाहते हो, कैसे प्राप्त करना चाहते हो? असत्य का मार्ग अपनाकर, या सत्य का मार्ग अपनाकर, अगर तुम्हे कोई कष्ट होता है या दर्द का अनुभव होता है तो समझो तुम पर ईश्वर बहुत प्यार लूटा रहा है, वह तुम्हारे साथ है, क्योंकि जिन्हें ईश्वर सुख प्रदान करता है, उससे ईश्वर बहुत दूर चला जाता है।

Read more

धूर्त देश चला रहा, पत्रकार-नेता बेटियों की इज्जत लूट रहा, अपना देश बदल रहा…

अपना देश बदल रहा है… धूर्तों का समूह देश चला रहे… पत्रकार-नेता, बेटियों की इज्जत लूट रहे… नीरव-चौकसी-माल्या जैसों का चल पड़ा हैं… अपना देश बदल रहा है… देश की जनता भूख-भूख चिल्ला रही… पीएम धन-कूबेरों की सिर्फ सुन रहा है… कौन कहता है कि देश नहीं बदल रहा है… अपना देश बदल रहा है…

Read more

सावधान, कोई पत्रकार किसी नेता के खिलाफ नहीं बोलेगा, गर बोलेगा तो उसे उठवा लिया जायेगा

देश के समस्त पत्रकारों को सूचित किया जाता हैं कि देश में पहली बार केन्द्र व विभिन्न भाजपा शासित राज्यों में उच्च कोटि के ईमानदार और चरित्रवान जनप्रतिनिधियों का शासन चल रहा है, जिसके आगे देश के मूर्धन्य अखबारों व चैनलों के मालिकों तथा विभिन्न प्रकार के संपादकों का समूह भजन कीर्तन कर रहा हैं, इसलिए आप सभी से अनुरोध है कि आप ऐसे लोगों के खिलाफ कोई भी समाचार छपवाने…

Read more

जब बारिश की बूंदे हमें स्पर्श करती है, तुलसी आप याद आते हैं…

जितने सरल शब्दों में गोस्वामी तुलसीदास ने वर्षा वर्णन कर युवाओं को सोचने पर मजबूर किया, उसे शब्दों में वर्णन नहीं किया जा सकता। संस्कार और चरित्र की सरल भाषा में सीख गोस्वामी तुलसीदास ने श्रीरामचरितमानस में खुब की है, हमारे विचार से प्रत्येक भारतीय परिवार को बिना किसी राग-लपेट के अपने बच्चों में संस्कार और चरित्र का बीजारोपण के लिए श्रीरामचरितमानस उनके हाथों में थमा देना चाहिए

Read more