धन्य है नीतीश कुमार, जिसने राजद विधायक चंद्रशेखर यादव जैसे नमूने को बिहार का शिक्षा मंत्री बनाया, पूरा देश कर रहा थू-थू

ये कोई पहली बार नहीं हुआ कि राष्ट्रीय जनता दल के नेताओं की ओर से हिन्दूओं व हिन्दू धर्म का

Read more

हालांकि झारखण्ड में दल आधारित पंचायत चुनाव नहीं हुए, फिर भी भाजपा का दावा कि 51% से ज्यादा सीटों पर उसका कब्जा

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद दीपक प्रकाश ने प्रदेश कार्यालय में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि झारखंड में

Read more

पत्रकारिता का अपराधीकरण – “कोठे की एक तवायफ और एक बिका हुआ पत्रकार एक ही श्रेणी मे आते हैं, लेकिन इनमें तवायफ की इज्जत ज्यादा होती है”

सआदत हसन मंटो ने पत्रकार और पत्रकारिता पर कभी सख्त टिप्पणी की थी और कहा था – “कोठे की एक

Read more

बंगाल में रहकर “ममता बनर्जी” और “तृणमूल कांग्रेस” से वैर, पागल हो क्या?

बंगाल में रहकर “ममता बनर्जी” और “तृणमूल कांग्रेस” से वैर, पागल हो क्या? अरे भाई किस नेता या किस पत्रकार या किस अखबार या किस चैनल या किस पोर्टल की हिम्मत है कि वो बंगाल में रहकर ममता बनर्जी या उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ एक बयान दे दें, या रिपोर्ट छाप दें, किसको अपनी इज्जत प्यारी नहीं हैं और किसे अपने बदन से प्यार नहीं हैं, क्या भूल गये कि चुनाव परिणाम आने के बाद भाजपा कार्यकर्ताओं व समर्थकों की क्या गत हुई है?

Read more

दलबदलू नेता, दलबदलू ही न रहेगा, वो थोड़े ही गांधी, नेहरु, शास्त्री बनने के लिए दुनिया में पैदा लिया है

बेशक दल बदलिये, दलबदलू कहाइये, पर अपना दीदा मत खोइये, किसी दल के नेता को इतना भी पहले मत गरिया दीजिये कि फिर जब आपको उस दल में जाने की नौबत आये तो आपकी ही इज्जत खतरे में पड़ जाये और आप मुंह चोर के जैसा जिस पार्टी में गये, उस पार्टी के और जिस पार्टी को छोड़े हैं, उस पार्टी के कार्यकर्ताओं से भी आप मुंह लुकाते फिरिये, क्योंकि कार्यकर्ता तो कार्यकर्ता होता हैं, वह तो आप जैसा नेता तो होता नहीं,

Read more

शर्मनाक, राज्य के होनहार CM के शासनकाल में 40 दिनों से धरने पर बैठा है प्रकाश, पर कोई सुन नहीं रहा

गिरिडीह सरिया के सामाजिक कार्यकर्ता प्रकाश मंडल को गांधी और गांधी के सिद्धांत पर गहरी आस्था और विश्वास है, उनका मानना है कि गांधी के रास्ते चलकर, हर समस्या का निराकरण कराया जा सकता है, इसीलिए वे पिछले चालीस दिनों से रांची के मोराबादी मैदान स्थित गांधी की प्रतिमा सह बापू वाटिका के बगल में एक छोटा सा तंबू लगाकर अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं।

Read more

क्या स्वच्छता का जिम्मा सिर्फ सफाईकर्मियों का हैं और आपका काम सिर्फ गंदगी फैलाना

अगर पशु-पक्षी गंदगी फैलाते हैं तो समझ आता है कि उन्हें ज्ञान नहीं, पर जब मनुष्य गंदगी फैलाये और देश का प्रधानमंत्री लोगों से अपील करें कि आप स्वच्छता पर ध्यान दीजिये और उसके बाद भी किसी के कानों पर जूं न रेंगे। जहां पाये, वहां गंदगी फैलाये, तो इसे क्या कहेंगे? स्वच्छता के प्रति दिलचस्पी का न होना या जान-बूझकर, ढिठई के साथ वहीं काम करना, जिसकी इजाजत उस व्यक्ति की आत्मा भी नहीं देती, जो निरन्तर गंदगी फैलाते रहते हैं।

Read more

जब न्यायालय गलत करें, तो ‘गांधी’ और ‘तिलक’ की तरह उसका विरोध करें, सच दिखाएं

जमाने बाद मालूम हुआ आज, एडिटर्स गिल्ड जिन्दा है। उसने मुजफ्फरपुर मास-रेप की रिपोर्टिंग पर पटना हाई कोर्ट के प्रतिबन्ध की आलोचना की है। होना तो ये चाहिए कि भारत में न्यायपालिका और न्यायाधीशों को मिले विशेषाधिकारों की रिव्यू हो। अगर न्यायाधीश गलती करे तो आप उसके खिलाफ कुछ नहीं बोल सकते, भला क्यों? सवाल है अगर गलती करे तो?

Read more

अफसोस! जिस देश में गांधी-पटेल जैसे नेताओं ने जन्म लिया, वहां केजरीवाल जैसे लोग भी…

इन दिनों दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल सुर्खियों में हैं। इस बार की सुर्खियों उनके द्वारा देश के विभिन्न राजनीतिक दलो के प्रमुख नेताओं के खिलाफ आरोपों को लेकर नहीं, बल्कि इस बार वे उन प्रमुख नेताओं से विभिन्न न्यायालयों में लिखित आवेदन देकर माफी मांगने को लेकर सुर्खियों में हैं। हो सकता है कि माफी मांगने को लेकर, वे रिकार्ड भी बना लें।

Read more

विद्रोही24.कॉम का असर, विज्ञापनों में दिखी राज्यपाल पर गांधी को नमन करना भूल गये CM रघुवर

आज राज्य के सभी प्रमुख अखबारों में आज से शुरु हो रहे वन्य प्राणी सप्ताह के विज्ञापन निकाले गये हैं, उस विज्ञापन में मुख्यमंत्री रघुवर दास के संदेश के साथ-साथ, राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू के भी संदेश है। हम आपको बता दें कि पिछले कुछ महीनों से देखा जा रहा था कि रघुवर सरकार, राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू को नजरंदाज कर रही थी तथा राज्य सरकार द्वारा निकाले जा रहे विज्ञापनों में उन्हें सम्मान व स्थान नहीं दिया जा रहा था।

Read more