शर्मनाक, क्या रांची के पत्रकार इतने गये-गुजरे हैं कि वे अपने लिए दो जून की रोटी का भी प्रबंध नहीं कर सकते?

बस अब यही बाकी रह गया था रांची प्रेस क्लब के उपाध्यक्ष पिंटू दूबे, उसे भी आपने पूरा कर दिया। आपने वो काम किया, हमें लगता है कि जिसके पास थोड़ा सा भी स्वाभिमान होगा, वो इस प्रकार का काम अपने जिंदगी में नहीं कर सकता। क्या रांची का पत्रकार इतना गया-गुजरा है कि वह अपने और अपने परिवार के लिए दो जून की रोटी का प्रबंध नहीं कर सकता? और अगर ऐसा हैं तो यह सारे मीडिया संस्थानों, और मीडिया के नाम पर चल रहे सारे संघों/क्लबों तक के लिए डूब मरने की बात है।

Read more

पोर्टिकों में कैमरामैनों, मोबाइलधारकों, फोटोग्राफरों द्वारा फैलायी जा रही अव्यवस्था से स्पीकर भी चिन्तित, दिया ठोस कदम उठाने का आश्वासन

झारखण्ड विधानसभाध्यक्ष रवीन्द्र नाथ महतो ने विद्रोही24. कॉम से बातचीत में कहा कि जिस प्रकार से सदन के पोर्टिकों में विभिन्न अखबारों/चैनलों/पोर्टलों के कैमरामैनों/मोबाइलधारकों/फोटोग्राफरों की भीड़ इकट्ठी हो रही हैं, और उनके कारण माननीयों को आने-जाने में दिक्कतें हो रही हैं, उस ओर ध्यान उनका भी गया है। उन्होंने खुद भी महसूस किया कि यह जो व्यवस्था हैं, वह ठीक नहीं है,

Read more

नीतीश के डर से थर-थर कांपते हैं पटना के अखबार और पत्रकार, बेइज्जत होने के बावजूद भी अपनी खबर नहीं छाप पाते

कल बिहार विधानसभा के सचिव के कक्ष में राम विलास पासवान का नामजदगी का पर्चा दाखिल करने में शामिल बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, अचानक प्रेस-फोटोग्राफरों, कैमरामैनों पर भड़क उठे, फिर क्या था? उधर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भड़के और इधर पुलिसकर्मियों ने अपना काम कर दिया, धक्के मारकर तथा कुछ को गरदनिया देकर बिहार विधानसभा के सचिव के कक्ष से उन्हें निकाल बाहर कर दिया गया।

Read more

झारखण्ड में CM के घर दिवाली के दिन पसरे सन्नाटे और अर्जुन मुंडा की कातिल अदा की चर्चा जोरों पर

जरा इस फोटो को ध्यान से देखिये, ये फोटो दिवाली के दिन का है, जब मुख्यमंत्री रघुवर दास, पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा के घर, दिवाली की शुभकामनाएं देने पहुंचे। दिवाली की शुभकामनाएं देने के बाद जनाब कुछ समय के लिए अर्जुन मुंडा के पास बैठे और फिर शुरु हो गई गुफ्तगूं, तभी अर्जुन मुंडा के चाहनेवालों ने ये फोटो खीच ली, फोटो तो रघुवर दास के लोगों ने भी खींची, और सीएम के सोशल साइट पर इस फोटो को डाल दिया,

Read more

तेजस्वी ने जो कल मीडिया के लिए गुंडा शब्द का प्रयोग किया, वह गलत नहीं था…

एक तरह से देखा जाय तो कल बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव के सुरक्षाकर्मियों ने जो पत्रकारों के साथ किया, वह एक तरह से ठीक ही किया और जो तेजस्वी प्रसाद यादव ने पत्रकारों के लिए गुंडे शब्द का प्रयोग किया, वह भी सहीं था। यह मैं इसलिए कह रहा हूं कि जिस चैनल के कैमरामैन की सुरक्षाकर्मियों द्वारा पिटाई हुई

Read more