आश्चर्य, वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव ने वाजपेयी की NPS के साथ-साथ मोदी सरकार की भी की तारीफ, कहा केन्द्र पूरा फंड दे रहा, कोई बकाया नहीं

झारखण्ड कांग्रेस के दिग्गज नेता रामेश्वर उरांव ने रांची से प्रकाशित अखबार प्रभात खबर को अपने दिये साक्षात्कार में पूर्व

Read more

अगर पुरानी पेंशन नीति की ओर लौटना अब संभव नहीं, तो फिर आप जैसे नेता इसका मोह क्यों रखे हुए हैं हरिवंश जी?

हरिवंश नारायण सिंह उर्फ हरिवंश राज्य सभा के उप-सभापति हैं। ये बिहार की घोर जातिवादी पार्टी जनता दल यूनाइटेड की

Read more

आखिर रिम्स में ही ऐसा क्यों, शिलापट्ट पर लिखे EX-CM व केन्द्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा के नाम के साथ छेड़छाड़ कौन करता हैं, आखिर बार-बार “मुंडा” शब्द को “गुंडा” बनाने की हिम्मत कौन कर रहा हैं

राजधानी रांची के राजेन्द्र आयुर्विज्ञान संस्थान यानी रिम्स में झारखण्ड के कई मुख्यमंत्रियों, प्रधानमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री समेत यहां के

Read more

बंगाल में रहकर “ममता बनर्जी” और “तृणमूल कांग्रेस” से वैर, पागल हो क्या?

बंगाल में रहकर “ममता बनर्जी” और “तृणमूल कांग्रेस” से वैर, पागल हो क्या? अरे भाई किस नेता या किस पत्रकार या किस अखबार या किस चैनल या किस पोर्टल की हिम्मत है कि वो बंगाल में रहकर ममता बनर्जी या उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ एक बयान दे दें, या रिपोर्ट छाप दें, किसको अपनी इज्जत प्यारी नहीं हैं और किसे अपने बदन से प्यार नहीं हैं, क्या भूल गये कि चुनाव परिणाम आने के बाद भाजपा कार्यकर्ताओं व समर्थकों की क्या गत हुई है?

Read more

वो मोदी है, वो सत्ता को ठोकर मार सकता है, पर स्वयं द्वारा लिए गए किसी भी निर्णय को वापस नहीं ले सकता

बिहार में एक लोकोक्ति है – अक्ल बड़ा या भैंस, तो जो मूर्ख होते हैं, वे अपनी बुद्धि के अनुसार बोल देते है कि –भैंस, क्योंकि उन्हें काला भैंस ही अक्ल के सामने बड़ा दिखाई पड़ता है। ये मूर्ख भैस को बड़ा दिखाने में एक से एक तर्क भी देते हैं, कहते है कि भैंस दूध देती है, जिसे पीकर हम बलवान होते है, गोबर देती है, जो बहुत उपयोगी होती है, इसलिए अक्ल से बड़ी तो भैंस है। ठीक उसी प्रकार आज कुछ लोगों से पूछिये

Read more

अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर राजनीति करनेवालों थोड़ा शर्म करो, दूसरे को दोष देने के पहले अपना दीदा देखो

अटल बिहारी वाजपेयी या किसी भी नेता या महापुरुष को कोई अपमान कर ही नहीं सकता, न किसी की ताकत है कि वो किसी का अपमान कर दें। आपके लिए या किसी पार्टी के लिए कोई भी नेता युगपुरुष हो सकता है, पर वो ही नेता सभी पार्टियों के लिए युगपुरुष हो जाये, ऐसा संभव नहीं, क्योंकि हर दल का कार्यकर्ता या उसका समर्थक अपने नेता में केवल खूबियां ही देखता है, उसके अंदर की कमियां नहीं देखता, यह परम सत्य है,

Read more

डंडे मारनेवाली बयान देकर राहुल ने सिद्ध किया कि वे खुद चाहते है कि देश में मोदी सरकार बनी रहे

छोटे नेता या किसी खास विचारों के गुलाम लोग, अगर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिए आपत्तिजनक शब्द का प्रयोग करते हैं, तो बात समझ में आती है कि चलो इनसे इससे अधिक की अपेक्षा नहीं की जा सकती, पर भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के बड़े नेता एवं भविष्य के लिए प्रधानमंत्री पद के प्रबल दावेदार के रुप में जाने-जानेवाले राहुल गांधी जैसे लोग जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिए आपत्तिजनक शब्द का प्रयोग करते हैं तो किसी को भी आश्चर्य हो सकता है।

Read more

‘छोटे मन से कोई बड़ा नहीं होता’ गानेवाले भाजपाइयों, काश तुम पटेल की तरह इन्दिरा को भी याद किये होते

उन्हें यानी राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास को असम के मुख्यमंत्री सर्वानन्द सोनोवाल का जन्मदिन याद हैं। वे उनके जन्मदिन पर हार्दिक शुभकामनाएं देना नहीं भूलते। उन्हें यह भी याद है कि आज सरदार वल्लभ भाई पटेल का जन्मदिन हैं, वे आज के दिन राष्ट्रीय एकता दिवस के रुप में मनाते हैं और लोगों को ऐसा करने को विवश भी करते हैं। एकता दौड़ और पता नहीं क्या-क्या कार्यक्रम आयोजित करते हैं।

Read more

ओल्ड पेंशन स्कीम के लिए संघर्ष कर रहे आंदोलनकारियों को हेमन्त सोरेन का समर्थन

रांची के मोराबादी मैदान में ओल्ड पेंशन स्कीम सुविधा को पुनः बहाल करने को लेकर राज्य भर से विभिन्न विभागों के सरकारी कर्मचारियों का महाजुटान हुआ। नेशनल मूवमेंट फॉर ओल्ड पेंशन स्कीम की राज्य कमेटी की ओर से आयोजित इस पेंशन संघर्ष रैली को संबोधित करते हुए नेता प्रतिपक्ष हेमन्त सोरेन ने कहा कि ओल्ड पेंशन स्कीम के लिए संघर्ष कर रहे आंदोलनकारी कर्मचारियों की मांगे जायज है,

Read more

पेंशन योजना का लाभ उठानेवालों PM मोदी से पूछो तो कि 60 साल के बाद 3000 का भैल्यू क्या होगा?

12 सितम्बर को भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी रांची में थे। यहां उन्होंने आते ही झारखण्ड विधानसभा के नवनिर्मित भवन का उद्घाटन किया, साथ ही कारपोरेट जगत से जुड़े अतिप्रतिष्ठित धनाढ्यों को उनके अपने सामानों के इम्पोर्ट एवं एक्सपोर्ट के लिए साहेबगंज में बंदरगाह का भी उद्घाटन कर दिया, साथ ही रांची से देश को संबोधन के क्रम में दो और योजनाओं का शुभारंभ किया।

Read more