हम योग में भी राजनीति घुसेड़ेंगे, भारत की महान परम्परा व संस्कृति को चोट पहुंचायेंगे चाहे संयुक्त राष्ट्र संघ ही उसका आर्गेनाइजर क्यों न हो?

माफ करिये हर चीज में घटिया स्तर की राजनीति को घूसेड़ना ठीक नहीं। योग को योग ही रहने दिया जाय, अगर किसी को योग में भी नरेन्द्र मोदी या भाजपा दीखता है, तो ऐसे लोगों को हम क्या कहें? हम तो इतना जानते हैं कि योग भारत की मिट्टी से जुड़ा है। यह विश्व को भारत की देन हैं। जिसको लेकर संपूर्ण मानव जाति सजग हुई है और अपने अस्तित्व को बचाने के लिए योग को अब अपना माध्यम बनाने का प्रयास शुरु कर दिया है।

Read more

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर योगदा सत्संग के साथ 19-21 जून तक ऑनलाइन जुड़िये और स्वयं को करिये अनुप्राणित

योगदा सत्संग सोसाइटी ऑफ इंडिया (वाईएसएस) द्वारा विशेष रुप से बताया गया है कि अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य में संस्था द्वारा योग-ध्यान पर कई विशेष कार्यक्रम तैयार किये गये हैं। अलग-अलग सत्रों में ये कार्यक्रम 19 से 21 जून तक आयोजित किये जायेंगे। वैश्विक कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए ये कार्यक्रम फिलहाल ऑनलाइन माध्यम से आयोजित किये जायेंगे।

Read more

क्रिया योग का अर्थ योगासन नहीं, ईश्वर की प्राप्ति हैः ईश्वरानन्द गिरि

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर यह जानना जरूरी है कि जिसे आज विश्व अपना रहा है, वह क्रिया योग है क्या और इसकी महिमा क्या है? जो लोग इसे अपना चुके हैं, वे निश्चय ही जानते होंगे कि यह हठ योग जैसा कुछ भी नहीं है, अपितु यह एक जीवन शैली है। जिससे आधुनिक विश्व को परमहंस योगानन्द ने परिचय कराया था। योगानन्द ने आम भारतीय को इससे अवगत कराने के उद्देश्य से पश्चिम बंगाल के आसनसोल के निकट दिहिका में योग विद्यालय की स्थापना 1917 में की,

Read more

चले थे योग से चित्त की वृत्तियों पर अंकुश लगाने, पर उन्होंने जानवर की तरह ट्रीट किया और वे जानवर बन बैठे

चले थे योग करने, चले थे अपने चित्त की वृत्तियों पर योग के माध्यम से अंकुश लगाने, पर आज हुआ क्या?  जब रांची में आयोजित अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव खत्म हुआ, तभी जिला प्रशासन की ओर से भोजन के पैकेट बांटे जाने लगे, और वे पैकेट इस प्रकार से बांटे जा रहे थे, या कहिये फेंके जा रहे थे, जैसे वे किसी पशुओं के सामने चारा या अनाज फेंक रहे हो, आश्चर्य तो तब लगा कि इस योग महोत्सव में आये लोग भी इनके द्वारा फेके जा रहे भोजन के पैकेटों…

Read more

ईश्वरानन्द गिरि ने चौथे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर योग व ध्यान की महत्ता को बताया

अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस की चौथी वर्षगांठ आज योगदा सत्संग आश्रम में धूम-धाम से मनाई गई, चूंकि पूरे विश्व में अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को मनाया जाता है, पर चूंकि रविवार के दिन सामान्य व्यक्तियों के लिए अवकाश का दिन होता है, इसलिए योगदा सत्संग आश्रम ने आज के दिन का लाभ उठाया और सामान्य जनों के बीच योग के मूल अर्थ और उसकी भावनाओं से साक्षात्कार कराया।

Read more